1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. jacqueline fernandez case sukesh chandrashekhar delivering gift to pinky irani ed big revelations bud

जैकलिन फर्नांडीस: सुकेश चंद्रशेखर ने पिंकी को सौंपा था गिफ्ट पहुंचाने का जिम्मा, ED ने किया खुलासा

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर और अन्य के खिलाफ आपराधिक जांच के संबंध में धनशोधन रोधी कानून के तहत बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलिन फर्नांडीस की सात करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है.

By Agency
Updated Date
जैकलिन फर्नांडीस
जैकलिन फर्नांडीस
instagram

दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर और अन्य के खिलाफ आपराधिक जांच के संबंध में धनशोधन रोधी कानून के तहत बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलिन फर्नांडीस (Jacqueline Fernandez) की सात करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है. संघीय एजेंसी ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत छत्तीस वर्षीय अभिनेत्री की 7.12 करोड़ रुपये की सावधि जमा और 15 लाख रुपये नकद कुर्क करने के लिए एक अस्थायी आदेश जारी किया है. निदेशालय ने इसे ''अपराध से हासिल'' धन करार दिया.

पिंकी ईरानी को सौंपा था जिम्मा

गौरतलब है कि ''सुकेश चंद्रशेखर ने जैकलिन फर्नांडीस को जबरन वसूली सहित आपराधिक गतिविधियों से हासिल आय से 5.71 करोड़ रुपये के विभिन्न उपहार दिए थे.'' ईडी ने एक बयान में कहा, ''चंद्रशेखर ने इस मामले में अपनी लंबे समय से सहयोगी और सह-आरोपी पिंकी ईरानी को जैकलीन तक उपहार पहुंचाने का जिम्मा सौंपा था.''

जैकलीन के परिवार को भी भेजी थी मोटी रकम

इन उपहारों के अलावा चंद्रशेखर ने सह-आरोपी अवतार सिंह कोचर, एक अंतरराष्ट्रीय हवाला ऑपरेटर के माध्यम से अपराध से हासिल धन से जैकलिन फर्नांडीस के करीबी परिवार के सदस्यों को 1,72,913 अमेरिकी डॉलर (वर्तमान विनिमय दर के अनुसार लगभग 1.3 करोड़ रुपये) और एयूडी 26740 (लगभग 14 लाख रुपये) की धनराशि भी दी. निदेशालय ने अपने बयान में कहा कि उसकी जांच में पाया गया कि चंद्रशेखर ने ''जैकलिन फर्नांडीस की ओर से एक स्क्रिप्ट राइटर को उसकी वेबसीरीज परियोजना की पटकथा लिखने के लिए अग्रिम के रूप में 15 लाख रुपये की नकद राशि दी थी. यह नकद राशि भी कुर्क की गई है.''

श्रीलंका की मूल नागरिक हैं जैकलीन

ईडी ने कहा कि अपराध से हासिल शेष रकम का पता लगाने के संबंध में जांच जारी है. गौरतलब है कि जैकलीन श्रीलंका की मूल नागरिक हैं और उनसे इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कई बार पूछताछ की है। ईडी ने पिछले साल दिसंबर में उन्हें अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरने से पहले मुंबई हवाई अड्डे पर रोक दिया था और जांच में शामिल होने का निर्देश दिया था.

धोखे से कमाई रकम का अवैध इस्तेमाल

ईडी ने आरोप लगाया है कि चंद्रशेखर ने जैकलिन फर्नांडीस को उपहार देने के लिए अवैध धन का इस्तेमाल किया, जिसे उसने फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर शिविंदर मोहन सिंह की पत्नी अदिति सिंह सहित कई नामी-गिरामी लोगों को धोखा देकर अर्जित किया था. उस पर आरोप है कि उसने अदिति सिंह और उसकी बहन के साथ फोन पर बातचीत में खुद को केंद्रीय गृह सचिव और कानून सचिव के रूप में पेश किया.

स्पूफिंग कॉल से होता था ठगने का काम

ईडी ने कहा कि उसकी जांच में पाया गया कि एक व्यक्ति ''लोगों को ठगने के लिए स्पूफिंग कॉल से संपर्क कर रहा था क्योंकि उनके फोन पर दिखाई देने वाले नंबर सरकारी अधिकारियों के थे और उन्होंने एक सरकारी अधिकारी होने का दावा किया था जो लोगों को धन के बदले मदद करने का दावा कर रहा था.'' उस व्यक्ति ने स्वयं को केंद्रीय गृह सचिव, केंद्रीय कानून सचिव, प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) का अधिकारी और अन्य कनिष्ठ अधिकारी बताकर शिविंदर मोहन सिंह की पत्नी अदिति सिंह से संपर्क किया और पार्टी के फंड में योगदान के बहाने उनसे 1 साल की अवधि में 200 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली की.

जेल में चला रहा था अवैध वसूली का धंधा

ईडी ने कहा, ''उक्त व्यक्ति ठग सुकेश चंद्रशेखर था, जो जेल अधिकारियों की मिलीभगत से दिल्ली (तिहाड़ जेल) की केंद्रीय जेल से अपना अवैध वसूली का कारोबार चला रहा था.''

जैकलीन ने खुद दिया था गिफ्ट का ब्यौरा

जैकलीन ने पिछले साल अगस्त और अक्टूबर में ईडी को दिए अपने बयान में बताया था कि उन्हें चंद्रशेखर से उपहार स्वरूप गुची के तीन डिजाइनर बैग, जिम में पहनने के लिए दो गुची की ड्रेस, लुई वीटन कंपनी के एक जोड़ी जूते, हीरे के दो जोड़े झुमके और दो हेमीज़ ब्रेसलेट मिले थे. अभिनेत्री ने ईडी को बताया कि उसने एक मिनी कूपर कार लौटा दी, जो उसे इसी तरह उपहार में मिली थी. प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी जांच में पाया कि चंद्रशेखर फरवरी से जैकलीन के साथ ''नियमित संपर्क'' में था, जब तक कि उसे पिछले साल 7 अगस्त को (दिल्ली पुलिस द्वारा) गिरफ्तार नहीं किया गया था. बाद में उसे ईडी ने भी गिरफ्तार किया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें