1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. bobby deol exclusive interview says his father dharmendra not watched ashram web series yet aashram 2 controversy karni sena prakash jha div

EXCLUSIVE : 'आश्रम' से सभी घरवाले खुश, अभी पापा धर्मेंद्र ने नहीं देखी वेब सीरीज- बॉबी देओल

By उर्मिला कोरी
Updated Date
Bobby Deol
Bobby Deol
instagram

अभिनेता बॉबी देओल (Bobby Deol) की वेब सीरीज आश्रम चैप्टर टू- द डार्क साइड जल्द ही मैक्स प्लेयर पर दस्तक देने वाला है. बॉबी बताते हैं कि जिस तरह से सीरीज का पहला भाग लोगों को पसंद आया दूसरा पार्ट काफी हार्ड हिटिंग होने वाला है. इस सीजन में काशीपुर बाबा निराला की असलियत आपको मालूम पड़ेगी. उर्मिला कोरी की बातचीत के प्रमुख अंश...

निराला बाबा की तरह का नेगेटिव किरदार करते हुए क्या कुछ जेहन में चलता था और इंटीमेट सीन में कितने सहज थे?

शुरुआत में शूटिंग के बाद शाम को सोचता था कि क्या क्या कर रहा हूं लेकिन आप एक्टिंग कर रहे होते हैं तो किरदार के अनुसार आपको परफॉर्म करना होता है. उसका व्यक्तित्व आपको बाहर लाना होता है. ये समझना जरूरी है. हां इंटीमेट सीन करते हुए मैं नर्वस था लेकिन फिर खुद को समझाता कि मैं एक्टर हूं. आप सीरीज देखते हुए यह महसूस भी करते हो कि परदे पर बॉबी नहीं निराला बाबा है.

बॉबी आश्रम सीरीज की बात करें तो आपके लिए सबसे चुनौतीपूर्ण दृश्य क्या था?

हर दिन चुनौतीपूर्ण था क्योंकि बाबा निराला की तरह मैं बिल्कुल भी नहीं हूं. आश्रम में वो सीन जब मैं शक्ति से उसके शुद्धिकरण के बाद मिलता हूं. वो सीरीज में मेरा पहला सीन था. शूटिंग का पहला दिन था और किरदार ऐसा तो थोड़ा नर्वस था लेकिन फिर प्रकाश जी ने कहा कि तुमने किरदार को सही ढंग से पकड़ लिया है. उसके बाद चीज़ें आसान होती चली गयी.

आश्रम चैप्टर 2 बाबा के डार्क साइड की बात कर रहा है आपका क्या डार्क साइड है?

(हंसते हुए) मुझे सी साल्ट वाला डार्क चॉकलेट पसंद है.

आपकी मौजूदा कामयाबी पर आपका परिवार कितना खुश हैं?

मम्मी पापा बहुत खुश हैं तो मैं बहुत खुश हूं. मम्मी पापा की खुशी से बढ़कर और क्या हो सकता है. पापा के दोस्त उनको मैसेज और कॉल करके बोल रहे हैं कि बॉबी ने अच्छा काम किया है.माँ की सहेलियां और हमारे सभी रिश्तेदार ने भी मेरे काम को सराहा है. मेरा स्टाफ उन्होंने भी कहा कि आश्रम में मेरा काम बहुत पसंद आया है. उनकी सीरीज के अगले भाग का बेसब्री से इंतज़ार है. सभी तरफ से तारीफें मिल रही हैं. साल 2020 काफी बुरा था लेकिन उसमें भी आपको अच्छी बात सुनने को मिल जाए तो और खुशी होती है.

पापा धर्मेंद्र ने आश्रम देखी क्या?

नहीं,उन्होंने नहीं देखी दो तीन एपिसोड्स ही उन्होंने देखें हैं.

आश्रम और क्लास ऑफ 83 जैसे प्रोजेक्ट्स के बाद क्या आप रेस और हाउसफुल जैसी फिल्मों को करते हुए दो बार सोचेंगे?

हाउसफुल और रेस जैसी फिल्मों ने मेरी गाड़ी को आगे बढ़ाया।आजकल का जो यूथ है. उसने मेरे काम को नहीं देखा था. हाउसफुल और रेस देखने के बाद उन्हें लगा तो कम से कम कि बॉबी देओल करके एक एक्टर है. उससे मुझे फायदा हुआ. हर एक्टर कुछ अलग करना चाहता है लेकिन उसके लिए उसे ज़रिया ढूंढना पड़ता है. रेस और हाउस फुल के बाद ही मुझे क्लास ऑफ 83 और आश्रम आफर हुई. लोगों को समझ आने लगा कि बॉबी से कुछ भी करवा सकते हैं. अभी जो मुझे आफर आ रहे हैं. काफी अच्छे हैं. लव होस्टल साइन की है. काफी रोचक किरदार है. आनेवाले साल के शुरुआत में फ़िल्म फ्लोर पर जाएगी. फिलहाल मैं शूटिंग कर रहा हूं लेकिन बता नहीं सकता. एनडीए साइन करवा लेते हैं आजकल तो कुछ बता नहीं सकते.

कैरियर की इस इनिंग में आप खुद को किस तरह से मोटिवेट करते हैं?

मैं हर दिन सोने से पहले और जागने के बाद खुद से ज़रूर कहता हूं कि दूसरा मौका बहुत मुश्किल से मिलता है तुझे मिला है. मेहनत जारी रखना.

आपने हाल ही में कहा था कि आपके दोनों बेटे पढ़ाई पूरी करने के बाद ही फिल्मों में आएंगे क्या आपके कैरियर के उतार चढ़ाव की वजह से आपने ये तय किया है?

हां, हम अपने अनुभवों से ही अपने बच्चों को गाइड कर सकते हैं. मेरे पापा ने मुझे अब मैं अपने बच्चों को. वो पढ़े लिखे अपनी समझ बढ़ाए ताकि मौका आए तो वो समझ सकें कि उनके लिए कौन सा प्रोफेशन सही रहेगा. ऐसा नहीं रहेगा कि आप एक ही प्रोफेशन में फंस जाए. एक्टर की ज़िन्दगी आसान नही होती है हर दिन चुनौतीपूर्ण होता है.

Posted By: Divya Keshri

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें