1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. bihar 1st phase election bihar chunav 2020 bollywood connection latest update presence of stars in bihar first phase election including akshara singh amisha patel change the mood of voters news hindi smt

Bihar 1st Phase Election: पहले चरण के चुनाव का क्या है बॉलीवुड कनेक्शन? क्या सितारों की मौजूदगी से बदलेगा वोटरों का मूड?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020, 1st Phase: पहले चरण के चुनाव का क्या है बॉलीवुड कनेक्शन?
Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020, 1st Phase: पहले चरण के चुनाव का क्या है बॉलीवुड कनेक्शन?
Prabhat Khabar Graphics

Bihar 1st Phase Election, Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020, 1st Phase Election, Campaign, Bollywood Connection, Voters Mood : बिहार चुनाव के पहले चरण में बॉलीवुड का तड़का देखने को मिला. प्रचार में बॉलीवुड सिंगर (Bollywood) के गाने हो या सितारों की मौजूदगी, बिहार का सियासी पारा तो पहले चरण में बढ़ता नजर आया. लेकिन, बड़ी बात यह है कि क्या यह तामझाम वोट में कन्वर्ट हो पाएगा?

चुनाव प्रचार में बॉलीवुड सिंगर की आवाज

दरअसल, कई पार्टियों ने अपने पहले चरण के प्रचार में बॉलीवुड का सहारा लिया. हाल में ही खबर आई थी कि कई प्रत्याशी चुनावी प्रचार के लिए बॉलीवुड सिंगर से चुनावी जिंगल व गाने तैयार करवा रहे हैं. इसके लिए 2000 से 50000 रुपये या उससे ऊपर भी खर्च किए गए हैं.

जैसा कि ज्ञात है बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह के मौत (Sushan singh death case) के मामले में पहले ही बॉलीवुड का बिहार से कनेक्शन जुड़ चुका था. इधर, कुछ ग्लैमर के तड़के से बिहार का चुनाव और रोमंचक करने की कोशिश की गयी. लोजपा प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) खुद बॉलीवुड एक्टर रह चुके हैं. इसके अलावा शत्रुघ्न सिन्हा, रवि किशन (Ravi kishan), मनोज तिवारी व अन्य का बिहार के साथ-साथ बॉलीवुड से भी नाता रहा हैं.

चिराग के प्रचार में अमीषा पटेल

इसी नाते चिराग पासवान ने बॉलीवुड एक्ट्रेस अमीषा पटेल (Amisha Patel) को चुनाव प्रचार के लिए बुलाया. वे हाल में ही अरवल में ओबरा सीट पर लोजपा की ओर से लड़ रहे प्रत्याशी लिए वोट मांगती दिखीं. अमीषा पटेल की एक झलक पाने के लिए लोगों की काफी भीड़ भी इक्ट्ठा हुई.

शत्रुघ्न सिन्हा और सोनाक्षी ने किया लव के लिए प्रचार

इधर, कांग्रेस लीडर और मशहूर एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा 9Shatrugn Sinha) ने बेटे लव को बिहार में कांग्रेस उम्मीदवार बनाया है. पटना की बांकीपुर सीट से वे मैदान में उतरे हैं. उनका प्रचार बहन सोनाक्षी (Sonakshi Sinha) और पिता शत्रुघ्न सिन्हा करते नजर आए हैं.

रवि किशन का एनडीए प्रत्याशियों के लिए प्रचार

बीजेपी सांसद और भोजपुरी फिल्मों के स्टार रवि किशन भी विपक्ष पर आए दिन जमकर हमला बोलते नजर आ चुके हैं. वे भोजपुरी अंदाज में एनडीए प्रत्याशियों व नीतीश सरकार की तारीफ और विपक्ष पर हमलावर दिखे हैं.

मनोज तिवारी भी एनडीए प्रत्याशियों के लिए कर चुके हैं प्रचार

नीतीश के 8-8, 9-9 बच्चे वाला बयान हो या अन्य दिल्ली से बीजेपी सांसद और बॉलीवुड व भोजपुरी में एक्टर व सिंगर रह चुके मनोज तिवारी ने नीतीश के बचाव में आ चुके हैं. इससे अलावा प्रचार से लेकर कई मामलों में वे एक्टिव नजर आए है.

NDA Star Campainger: स्मृति ईरानी एनडीए की स्टार प्रचारक

स्टार प्रचारकर के तौर पर स्मृति ईरानी भी एनडीए समर्थित उम्मीदवार अरुणा देवी समेत अन्य प्रत्याशियों के समर्थन में रैली करते नजर आयी हैं. आपको बता दें कि वे बॉलीवुड अदाकारा रह चुकी हैं. फिलहाल, एनडीए सरकार में वे केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री के तौर पर कार्यरत हैं.

Bhojpuri music: चुनावी माहौल में भोजपुरी तड़का भी

इसके अलावा बॉलीवुड एक्टर रह चुके राज बब्बर, भोजपुरी एक्टर खेसारी लाल यादव, निरहुआ, लोक गायक छैला बिहारी, एक्ट्रेस अक्षरा सिंह समेत अन्य कलाकार भी बिहार चुनाव में विभिन्न पार्टियों के लिए प्रचार करते नजर आ चुके हैं.

रोजगार और लोकल मुद्दा पड़ सकता है भारी 

गौरतलब है कि 10 नवंबर को बिहार चुनाव का रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा. इससे पहले कुल तीन चरणों में बिहार चुनाव होना है. 28 अक्टूबर को प्रथम चरण का वोटिंग संपन्न हो जायेगा.

पूर्व में हुए कई चुनावों में बॉलीवुड की एंट्री से इलेक्शन को रोमांचक बनाने की कोशिश की जा चुकी है. लेकिन, इस बार ये तामझाम शायद ही कोई असर डाल पाए. क्योंकि, बिहार में शिक्षा और रोजगार से बड़ा मुद्दा फिलहाल कोई नहीं है. जिसकी गंभीरता को समझते हुए कई पार्टियों ने चुनावी घोषणा पत्र भी जारी किया है.

78 लाख युवा पहली बार कर रहे वोट

जैसा कि ज्ञात हो कोरोना काल में कई लाख लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है. इसके अलावा इस चुनाव में कुल 78 लाख युवा पहली बार वोट कर रहे हैं. जिनका मुद्दा या तो शिक्षा या रोजगार हो सकता है. जबकि, 4 करोड़ से ज्यादा वोटर 18-40 वर्ष के बीच है. इसी वर्ग के वोटर चुनाव के रिजल्ट में निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं. दरअसल, इस वर्ग के कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें