1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. anupam kher reply to shashi tharoor over 2012 tweet on patriotism says this

8 साल पहले का ट्वीट शेयर कर शशि थरूर ने साधा अनुपम खेर पर निशाना, एक्‍टर ने लगा दी क्‍लास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
anupam kher shashi tharoor
anupam kher shashi tharoor
photo: instagram

anupam kher reply to shashi tharoor : कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) और अभिनेता अनुपम खेर (Anupam Kher) एक बार ट्विटर पर आमने सामने आ गए हैं. दोनों के बीच आए दिन किसी ने किसी बात को लेकर टकराव हो ही जाता है. हाल ही में शशि थरूर ने अनुपम खेर का एक पुराना ट्वीट (Anupam Kher tweet) शेयर कर उन्‍हें घेरने की कोशिश की जिसपर अभिनेता ने वापस उन्‍हीं की क्‍लास लगा दी.

दरअसल शशि थरूर ने अनुपम खेर के साल 2012 में किये गये एक ट्वीट का स्क्रीन शॉट शेयर किया. इस ट्वीट में अनुपम खेर ने मशहूर अमेरिकी लेखक एडवर्ड एबे का एक फेमस कोट लिखा था. इस ट्वीट में लिखा गया था,' एक देशभक्त को हमेशा अपनी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के लिए तैयार रहना चाहिए.'

इस ट्वीट को शेयर करते हुए शशि थरूर ने लिखा,' शुक्रिया अनुपम खेर. मै आपकी बात से पूरी तरह सहमत हूं. उन्होंने अमेरिकी लेखक मार्क ट्वेन के कोट को हवाला देते हुए लिखा- 'देशभक्ति आपके देश में हर समय आपकी सरकार का समर्थन करती है.'

शशि थरूर के इस ट्वीट का अनुपम खेर ने करारा जवाब दिया. उन्‍होंने लिखा,' प्रिय शशि थरूर! आपने मेरे 2012 के ट्वीट को ढूंढकर निकाला, आज उस पर टिप्पणी की. ये न केवल आपकी बेरोज़गारी और दिमाग़ी कंगाली का प्रमाण है.बल्कि आप इंसानी तौर पर कितना गिर चुके हैं इसका भी सबूत है.मेरा ये ट्वीट जिन लोगों के लिए था वह आज भी भ्रष्टाचार का प्रतीक हैं. आप जानते हैं.'

बता दें कि अनुपम खेर बी टाउन के उन कलाकारों में शुमार हैं जो तकरीबन हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं. हाल ही में जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में पंडित सरपंच अजय पंडिता (Ajay Pandita) की हत्या मामले पर अनुपम खेर का गुस्सा फूट पड़ा था. अब उन्होंने एक वीडियो शेयर कर सोशल मीडिया पर लगातार फैल रही नफरत को लेकर सवाल खड़े किए थे.

उन्‍होंने इस वीडियो में कहा,' मैं बहुत दिनों से एक बात के बारे में सोच रहा था लेकिन फिर टाल देता था. लेकिन आज यह इंटरनेट या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर आजकल ज्यादा ही नेगेटिविटी और गाली गलौच नहीं हो गई है? या शायद पहले से ही इतना था, हम क्या बनते जा रहे हैं. जिंदगी बहुत छोटी है और यहां कुछ भी हो सकता है, तो क्‍यों न नफरत छोड़कर प्‍यार को बांटें. अपनी बुराई की जगह अपनी अच्‍छाई को दिखाएं. क्‍या मैं सही कह रहा हूं न.''

Posted By: Budhmani Minj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें