1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. up chunav 2022 political parties hope to gain from lucky number 7 in elections acy

UP Election 2022: सियासी दलों को '7' नंबर से है काफी उम्मीदें, जानें क्यों इसे मान रहे अपने लिए भाग्यशाली

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में '7' नंबर को सभी सियासी दल अपने लिए शुभ और भाग्यशाली मान रहे हैं. आखिर इसकी वजह क्या है, जानने के लिए पढ़ें यह खास रिपोर्ट...

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
UP Chunav 2022: सात नंबर को अपने लिए चुनाव में भाग्य शाली मान रहे सभी सियासी दल
UP Chunav 2022: सात नंबर को अपने लिए चुनाव में भाग्य शाली मान रहे सभी सियासी दल
प्रभात खबर ग्राफिक्स

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव सात चरण में होंगे. पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को जबकि अंतिम चरण का मतदान 7 मार्च को होगा. मतगणना 10 मार्च को होगी. सूबे में सरकार किसकी बनेगी, इसे लेकर अभी कुछ कहा नहीं जाता. यह भविष्य के गर्भ में हैं, लेकिन एक बात जो हम विश्वास के साथ कह सकते हैं, वह यह है कि सभी सियासी दल 7 नंबर को अपने लिए भाग्यशाली मान रहे हैं. उनका कहना है कि इस बार के चुनाव में यह 'सात' नंबर उन्हें सूबे की सत्ता तक पहुंचाएगी.

यूपी में कुछ राजनेता सात चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव में 7 नंबर को अपने लिए भाग्यशाली मानते हैं. उनका मानना है कि यह नंबर उन्हें चुनाव जीतने में मदद करेगा. वहीं, पार्टियां यह दावा करने के लिए अलग-अलग कारण और तर्क देती हैं कि वे चुनावों में विजयी होंगे. जहां बीजेपी को हैट्रिक की उम्मीद है, वहीं विपक्षी समाजवादी पार्टी और कांग्रेस को लगता है कि आने वाले चुनावों में किस्मत उन पर मेहरबान होगी औऱ जीत उनकी होगी.

बीजेपी के राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने बताया कि सात नंबर को शुभ माना जाता है. सप्तऋषि नक्षत्र है. एक इंद्रधनुष में भी सात रंग होते हैं. भारतीय शास्त्रीय संगीत में सात मूल स्वर होते हैं. 2017 के राज्य विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव सात चरणों में हुए थे और बीजेपी की जीत हुई थी. इस बार के विधानसभा चुनाव में, जो सात चरणों में होगा, बीजेपी 300 से अधिक सीटें जीतेगी.

बीजेपी प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने पार्टी की संभावित जीत का एक और कारण बताते हुए कहा कि चूंकि चुनावी चरण पश्चिमी से पूर्वी यूपी की ओर बढ़ रहे हैं, इसलिए इस बार भी बीजेपी अपने शानदार प्रदर्शन को दोहराएगी, जैसा कि उसने 2017 और 2019 के चुनावों में किया था.

'सप्तऋषि' कांग्रेस को देंगे आशीर्वाद

कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता अब बीजेपी के 'सात रंग के सपने' के बहकावे में नहीं आने वाली है. उसने बीजेपी को सात समंदर से आगे फेंकने का मन बना लिया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी नेताओं को सप्ताह के सातों दिन झूठ बोलने की आदत है. इसलिए वे सूर्य भगवान के रथ के सात घोड़ों से कोई सकारात्मक ऊर्जा नहीं खींच पाएंगे. अशोक सिंह ने यह भी दावा किया कि 'सप्तऋषि' (सात पूज्य हिंदू संत) इस बार कांग्रेस को आशीर्वाद देने जा रहे हैं.

समाजवादी पार्टी की यूपी इकाई के उपाध्यक्ष सुरेंद्र श्रीवास्तव के मुताबिक, सात चरणों का विधानसभा चुनाव इस बार सपा के लिए भाग्यशाली साबित होगा. सपा अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ जीत दर्ज करने में सफल होगी.

राम सेवा ट्रस्ट, प्रयागराज के संयोजक आशुतोष वार्ष्णेय ने कहा, दूल्हा और दुल्हन अपने बंधन को मजबूत करने के लिए शादी के दौरान आग के चारों ओर 'सात फेरे' लेते हैं. अब, यह देखना बाकी है कि उत्तर प्रदेश में कौन सी पार्टी जनता के साथ अपने संबंधों को मजबूत कर पाएगी. उन्होंने कहा कि यूपी की विधानसभा में 403 सीटें हैं. 403 का एकल अंकों का योग भी 7 है.

Posted By: Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें