1. home Home
  2. election
  3. up assembly elections
  4. up chunav 2022 asaduddin owaisi said akhilesh yadav should understand we have no relation with muhammad ali jinnah abk

UP Chunav 2022: अखिलेश यादव के ‘जिन्ना प्रेम’ पर भड़के असदुद्दीन ओवैसी, कहा- सपा सुप्रीमो को सच्चाई नहीं पता

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के ‘जिन्ना प्रेम’ पर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए हैं. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को देश के इतिहास की जानकारी नहीं है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
AIMIM Chief Asaduddin Owaisi
AIMIM Chief Asaduddin Owaisi
Social Media.

UP Chunav 2022: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं. इसको लेकर सियासी गहमागहमी बढ़ चुकी है. दूसरी तरफ नेताओं की बदजुबानी पर भी सियासी बवाल मच रहा है. अब, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के जिन्ना प्रेम पर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए हैं. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को देश के इतिहास की जानकारी नहीं है.

पूर्वजों ने टू नेशन थ्योरी खारिज की- ओवैसी

दिल्ली में समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अखिलेश यादव को समझना चाहिए कि भारतीय मुसलमानों का मुहम्मद अली जिन्ना से कोई वास्ता नहीं है. हमारे पूर्वजों ने टू नेशन थ्योरी को खारिज कर दिया था. उन्होंने भारत में रहना चुना था.

असदुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा कि अखिलेश यादव को लगता है कि ऐसे बयानों से समाज में रहने वाला एक हिस्सा खुश हो सकता है तो वो गलत हैं. उन्हें अपने सलाहकारों को बदल देना चाहिए. अखिलेश यादव को खुद को शिक्षित करना चाहिए. ओवैसी ने अखिलेश यादव को इतिहास पढ़ने की सलाह भी दी.

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने क्या कहा था?

अखिलेश यादव ने एक चुनावी रैली में कहा था कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और मुहम्मद अली जिन्ना ने एक ही जगह से पढ़ाई की थी. वो वकील बने थे और उन्होंने देश को आजादी दिलाई थी. सरदार वल्लभ भाई पटेल ने आरएसएस की विचारधारा पर रोक लगाई थी. अखिलेश यादव के जिन्ना की सरदार पटेल और महात्मा गांधी से तुलना पर बीजेपी ने तगड़ा पलटवार किया था.

सीएम योगी ने अखिलेश यादव को दी सलाह

अखिलेश यादव के बयान पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उनका बयान शर्मनाक और तालिबानी मानसिकता का परिचय देता है. उन्हें बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए. सीएम योगी ने कहा था कि समाजवादी पार्टी प्रमुख ने जिन्ना और सरदार पटेल की तुलना की. यह बेहद शर्मनाक है. यह तालिबानी मानसिकता को दिखाता है, जो बांटने में विश्वास करता है. सरदार पटेल ने देश को एकसूत्र में पिरोया था. अखिलेश यादव को अपने बयान के लिए देश और यूपी की जनता से माफी मांगनी चाहिए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें