1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. political fate of 231 candidates of bareilly division is locked in evm now eyes on counting of votes acy

UP Chunav 2022: बरेली मंडल के 231 प्रत्याशियों की सियासी किस्मत EVM में बंद, अब 10 मार्च का इंतजार

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में बरेली मंडल के 231 प्रत्याशियों की सियासी किस्मत ईवीएम में बंद हो गई है. अब सबकी निगाहें 10 मार्च की मतगणना पर टिक गई हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Bareilly
Updated Date
Bareilly Vidhan Sabha Chunav 2022 Second Phase Voting
Bareilly Vidhan Sabha Chunav 2022 Second Phase Voting
Prabhat Khabar Graphics

Bareilly Vidhan Sabha Chunav 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण का मतदान सोमवार को संपन्न हो गया. बरेली मंडल की 21 विधानसभा सीट के लिए 231 प्रत्याशियों की सियासी किस्मत का फैसला मतदाताओं ने अपनी ऊंगली से ईवीएम का बटन दबाकर कर दिया. मगर, अब मतदाताओं के फैसले का रिजल्ट 10 मार्च को आएगा. सबकी निगाह 10 मार्च को होने वाली मतगणना पर टिकी है.

बरेली मंडल से बनेंगे 21 विधायक

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में बरेली की नौ विधानसभा सीट के लिए 97, बदायूं की छह विधानसभा के लिए 61 और शाहजहांपुर की 6 विधानसभा सीट पर 73 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. यह प्रत्याशी विधानसभा चुनाव की आचार सहिंता जारी होने के बाद से टिकट और चुनाव जीतने के लिए सुबह से रात तक जनता के बीच मे थे. मगर, मतदान होने के बाद जीत-हार की गुणा भाग में लग गए हैं. अधिकांश प्रत्याशी खुद को जीता हुआ ही मान रहे हैं. मगर, 231 में से मात्र 21 विधायक ही बनेंगे.

भीतरघातियों की तलाश

विधानसभा चुनाव का मतदान होने के बाद प्रत्याशी भीतरघात करने वालों की तलाश में जुट गए हैं. अधिकांश प्रत्याशियों के साथ रहने वालों ने ही भीतरघात किया है, जिससे उन्हें चुनाव में काफी नुकसान हुआ है. इसके साथ ही काफी मतदाताओं ने पैसा और भरोसा दिलाने के बाद भी गद्दारी की. इनकी रिपोर्ट प्रत्याशी और उनके समर्थक तैयार कर रहे हैं.

लंबा इंतजार, अब जीत हार की बहस

मतगणना 10 मार्च को होगी. इसमें करीब 29 दिन का लंबा वक्त है. मगर, प्रत्याशियों के समर्थकों में जीत-हार को जगह-जगह बहस शुरू हो गई है. बरेली मंडल की 21 विधानसभा सीटों पर मतदान संपन्न होने के बाद पुलिस प्रशासन और प्रत्याशियों ने भी राहत की सांस ली है, मगर अब प्रत्याशियों को अगले चरण के चुनावों में प्रचार की ड्यूटी लगने की उम्मीद जताई जा रही है.

रिपोर्ट- मुहम्मद साजिद, बरेली

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें