1. home Home
  2. election
  3. up assembly elections
  4. pm modi dedicates development projects in mahoba in up hits back on opposition abk

पानी से ‘कमल’ खिलाने की तैयारी, दिल्ली में कृषि कानून रद्द करने का ऐलान, महोबा में अन्नदाताओं को सौगात

पीएम मोदी ने विपक्ष पर किसानों को उलझाकर समस्या की राजनीति करने का आरोप लगाया तो अपनी सरकार को समाधान की राष्ट्रनीति पर चलने वाला कहा.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
महोबा में पीएम नरेंद्र मोदी
महोबा में पीएम नरेंद्र मोदी
सोशल मीडिया

PM Modi Mahoba Visit: पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार की सुबह कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान कर दिया. दूसरी तरफ महोबा में किसानों को कई सौगातें दी. इस अवसर पर पीएम मोदी ने कई बातों को जिक्र किया. उन्होंने कृषि कानूनों को वापस लेने पर बात नहीं की. अपने संबोधन में इशारों-इशारों में विपक्ष की खूब खबर ली. पीएम मोदी ने विपक्ष पर किसानों को उलझाकर समस्या की राजनीति करने का आरोप लगाया तो अपनी सरकार को समाधान की राष्ट्रनीति पर चलने वाला कहा.

पीएम नरेंद्र मोदी ने महोबा में अर्जुन सहायक परियोजना, रतौली बांध परियोजना, भावनी बांध परियोजना, मझगांव-चिल्ली स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना का लोकार्पण किया. इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने ताल-तलैया के नाम पर कई फीते काटे. लेकिन, कुछ नहीं हुआ. यहां के लोगों को प्यासा छोड़ दिया गया. किसानों की सुध तक नहीं ली गई. उन्होंने जिक्र किया कि उत्तर प्रदेश के सीएम योगी के राज में माफियाओं पर बुलडोजर चल रहा है. इससे कुछ लोगों को दिक्कत हो रही है.

महोबा में पीएम मोदी ने अपने संबोधन में इशारों-इशारों में कृषि कानूनों का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां किसानों को उलझाकर समस्याओं की राजनीति करती है. हम समाधान की राष्ट्रनीति करने के पक्षधर हैं. यही चित्रकूट, यही बुंदेलखंड है, जिसने प्रभु श्रीराम का साथ दिया, लेकिन, समय के साथ यह क्षेत्र पानी की चुनौतियों और पलायन का केंद्र कैसे बन गया? क्यों इस क्षेत्र में लोग अपनी बेटी को ब्याहने से कतराने लगे? यह सारी बातें बात यहां के हर लोग अच्छी तरह से जानते हैं.

खास बात यह रही कि पीएम मोदी ने अपने संबोधन में केंद्र सरकार के कामकाज और महोबा के कनेक्शन का जिक्र भी किया. उन्होंने कहा कि सात सालों में हमने कैसे केंद्र सरकार को बंद कमरों से निकालकर देश के कोने-कोने तक लाया है. इसका उदाहरण महोबा है. आल्हा-ऊदल की धरती पर आना सौभाग्य की बात है. कुछ महीने पहले इसी धरती से उज्जवला योजना के दूसरे चरण की शुरुआत की गई थी. महोबा से ही मैंने देश की करोड़ों मुस्लिम बहनों से वायदा किया था उनको तीन तलाक की परेशानी से मुक्ति दिलाकर रहूंगा. हमने हर वादा पूरा किया.

महोबा की धरती पर अपने संबोधन में पीएम मोदी ने यूपी की योगी सरकार की भी खूब तारीफ की. उन्होंने कहा कि परिवारवादियों की सरकारों ने सिर्फ अपने परिवार को देखा. कर्मयोगियों की डबल इंजन की सरकार ने बेटियों के लिए स्कूल में अलग टॉयलेट बनाए. हजारों आंगनबाड़ी और स्कूलों तक नल से जल पहुंचाया. हमारी सरकारी ने गरीबों तक मदद पहुंचाई. हमने बीज से लेकर बाजार तक, किसानों के हित में कदम उठाए हैं. सात सालों में 1650 से अधिक अच्छी क्वालिटी के बीज तैयार किए गए.

महोबा की धरती पर पीएम मोदी ने यूपी की योगी सरकार की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि परिवारवादियों की सरकारों ने सिर्फ अपने परिवार को देखा और कर्मयोगियों की डबल इंजन की सरकार ने बेटियों के लिए स्कूल में अलग टॉयलेट बनाए. हजारों आंगनबाड़ी और स्कूलों तक नल से जल पहुंचाया. हमारी सरकार ने गरीबों तक मदद पहुंचाई. हमने बीज से लेकर बाजार तक किसानों के हित में कदम उठाए हैं. सात सालों में 1650 से अधिक अच्छी क्वालिटी के बीज तैयार किए गए. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बुंदेलखंड से पलायन रोने के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें