1. home Home
  2. election
  3. up assembly elections
  4. bjp entrusted the responsibility of winning the up assembly elections to 14 veteran leaders slt

भाजपा ने इन 14 दिग्गज नेताओं को सौंपी यूपी विधानसभा चुनाव जिताने की जिम्मेदारी, जानें क्या है पूरा समीकरण

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. जिसको देखते हुए भाजपा ने यूपी की बागडोर धर्मेंद्र प्रधान को सौंप दी है. इसके साथ ही भाजपा ने सात सह-प्रभारी और छह क्षेत्रीय संगठन प्रभारियों को भी नियुक्त किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
यूपी चुनाव के लिए दिल्ली से आए 14 दिग्गज नेता
यूपी चुनाव के लिए दिल्ली से आए 14 दिग्गज नेता
फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. जहां एक तरफ कांग्रेस नई रणनीति के साथ चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हैं, तो वहीं भाजपा एक बार फिर से प्रचंड बहुमत हासिल करने की हौड़ में लगी हुई हैं. भाजपा लगातार जातीय समीकरण को देखते हुए अपने प्रभारी उतार रही है. जहां भाजपा ने बुधवार को यूपी की कमान धर्मेंद्र प्रधान को सौंपी हैं. इसके साथ ही सात सह-प्रभारी और छह क्षेत्रीय संगठन प्रभारियों में चुनें गए हैं.

भाजपा की ओर से यूपी चुनाव के लिए चुनी गई इस टीम में धर्मेंद्र प्रधान प्रभारी के रूप में सामने आए है. वहीं अनुराग ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल, कैप्टन अभिमन्यु, सरोज पाण्डेय, शोभा कारनदलाजे, अन्नपूर्णा देवी और विवेक ठाकुर सह प्रभारी बनाए गए हैं. यह सभी लोग पुराने संगठनकर्ता और अनुभवी हैं.

सह प्रभारी पर ध्यान दे तो बीजेपी ने महिला वोटरो को लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. उन्होंने महिला के हक में काम करने के लिए 3 महिला सह प्रभारियों को चुना हैं. जिसमें द्रीय कृषि कल्याण राज्यमंत्री शोभा करंदलाजे, केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री अन्नपूर्णा देवी और राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय शामिल है. बता दें कि सरोज पांडेय भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुकी हैं.

यूपी चुनाव में क्षेत्रीय संगठन प्रभारी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. यह लोग जमीनी स्तर पर सरकार की योजनाओं को उतारते हैं. जिसको देखते हुए भाजपा ने छह क्षेत्रों के संगठन प्रभारी भी बना दिए गए हैं. इनमें सांसद संजय भाटिया को पश्चिम, बिहार के विधायक संजीव चौरसिया को ब्रज, राष्ट्रीय मंत्री वाय. सत्या कुमार को अवध, राष्ट्रीय सह-कोषाध्यक्ष सुधीर गुप्ता को कानपुर, राष्ट्रीय मंत्री, बंगाल के सह प्रभारी अरविंद मेनन को गोरखपुर और प्रदेश के सह-प्रभारी की जिम्मेदारी देख रहे सुनील ओझा को काशी क्षेत्र का संगठन प्रभारी बनाया गया है.

यूपी में सबसे बड़ा वोट बैंक पिछड़ा वर्ग का है. धर्मेंद्र प्रधान ओबीसी समुदाय से आते हैं. जिसको देखते हुए जेपी नड्डा ने ओबीसी समुदाय से आने वाले धर्मेंद्र प्रधान को यूपी की कमान सौंपी है. धर्मेंद्र प्रधान छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड राज्य के भी प्रभारी रह चुके हैं. धर्मेंद्र प्रधान एबीवीपी के सदस्य रहे हैं और पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. देबेन्द्र प्रधान के पुत्र हैं.

Posted By Ashish Lata

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें