1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. bjp demands election commission to allow mobiles to be carried to polling booths sht

UP Election: पोलिंग बूथ पर मोबाइल बैन होने से वोटर्स का मोह भंग, BJP की मांग- फोन की अनुमति दे चुनाव आयोग

बीजेपी ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि मतदान से पहले मतदाताओं से उनका फोन स्विच ऑफ करा लिया जाए. लेकिन पोलिंग बूथ पर मोबाइल बैन नहीं किया जाए.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
UP Election 2022
UP Election 2022
सोशल मीडिया (फाइल फोटो)

UP Election 2022: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए चुनावी प्रक्रिया लगातार जारी है. इस क्रम में 27 फरवरी यानी कल पांचवें चरण के लिए वोटिंग होनी है. पांचवें चरण में 12 जिलों की 61 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है. इस चरण में कुल 692 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी है. इस बीच बीजेपी ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि मतदान से पहले मतदाताओं से उनका फोन स्विच ऑफ करा लिया जाए. साथ ही मांग की है कि मोबाइल के साथ मतदाता केंद्र पर आने वाले वोटर्स को वापस न किया जाए.

मोबाइल बैन होने से नहीं आ रहे मतदाता

दरअसल, बीजेपी के प्रदेश महामंत्री और चुनाव प्रबंधन प्रभारी जेपीएस राठौर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने इस संबंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला को पत्र सौंपा है. बीजेपी नेता के मुताबिक, पोलिंग बूथ पर मौजूद सुरक्षाकर्मी मोबाइल के साथ मतदाता को मत डालने की अनुमति नहीं देते हैं. साथ ही उनसे बिना फोन के वोटिंग करने के लिए बोला जाता है. ऐसी स्थिति में मतदाता वोट डालने दोबारा पोलिंग बूथ पर नहीं आते, जिसकी कई शिकायतें प्राप्त हुई हैं.

'बूथों पर हो मोबाइल जमा करने की सुविधा'

इसके अलावा पत्र में कहा गया है कि, आज कल फोन साथ रखना लोगों की दिनचर्या का एक अभिन्न हिस्सा बन चुका है. यही कारण है कि लोग जाने-अनजाने में वोटिंग के समय भी फोन साथ ही ले जाते हैं, लेकिन मतदान स्थल पर मोबाइल फोन जमा करने की कोई सुविधा ना होने की वजह से मतदान में बाधा आती है.

बिना मोबाइल के सेल्फी प्वाइंट का क्या काम?

पत्र में कहा गया है कि जब मतदान को बढ़ावा देने के लिए चुनाव आयोग ने बूथों के बाहर सेल्फी प्वाइंट बनाए गए हैं, तो मोबाइल पर प्रतिबंद क्यों. यदि मोबाइल लेकर आने की अनुमति ही नहीं रहेगी, तब आयोग का यह प्रयास असफल साबित होगा. यही कारण है कि बीजेपी नेता ने आयोग से मांग की है कि वह वोटर्स को पोलिंग बूथ के अंदर मोबाइल स्विच ऑफ मोड में रख कर मतदान करने की अनुमति प्रदान करे, जिसे कि आयोग और मतादान दोनों को अपने-अपने काम में आसानी हो सके.

27 फरवरी को 12 जिलों में मतदान

पांचवें चरण में जिन 12 जिलों में चुनाव हो रहा है उनमें अमेठी, रायबरेली, सुलतानपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, प्रयागराज, बाराबंकी, अयोध्या, बहराइच, श्रावस्ती और गोंडा जिले शामिल हैं. यूपी विधानसभा के सभी सात चरणों चौथा चरण सबसे बड़ा है, क्योंकि इस चरण में सर्वाधिक 61 सीटों 27 फरवरी को मतदान होना है.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें