1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. azam khan filed nomination from sitapur jail as sp candidate from rampur sadar seat acy

UP Election 2022: आजम खान ने जेल से किया नामांकन, रामपुर सदर सीट पर चार दशकों से रहा है वर्चस्व

यूपी विधानसभा चुनाव-2022 के लिए सपा सांसद आजम खान ने जेल से ही अपना नामांकन दाखिल किया. उन्हें सपा ने रामपुर सदर सीट से प्रत्याशी बनाया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
 Azam Khan
Azam Khan
Social Media

UP Election 2022: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आजम खान ने जेल से ही अपना नामांकन दाखिल किया है. आजम खान फिलहाल सीतापुर जेल में बंद हैं. कोर्ट के आदेश पर रिटर्निंग ऑफिसर और प्रस्तावकों ने जेल पहुंचकर उनका नामांकन फॉर्म भरवाया. आजम खान के नामांकन करने की पुष्टि जेलर आरएस यादव ने की है.

आजम खान का पर्चा दाखिल

सीतापुर जिला कारागार के जेलर आरएस यादव ने बताया कि आदेश जारी हुआ था कि जेल में रिटर्निंग ऑफिसर भेजकर सारी औपचारिकताओं को पूरा कराया जाए और उनका (आजम खान) पर्चा दाखिल कराया जाए. सारी औपचारिकताएं पूरी करके पर्चा दाखिल करा दिया गया है.

रामपुर सदर सीट से प्रत्याशी हैं आजम खान

सपा सांसद आजम खान दो साल से सीतापुर जेल में बंद है. एमपी-एमएलए कोर्ट ने उन्हें जेल से ही चुनाव लड़ने की इजाजत दी है. बुधवार को उनके नामांकन की प्रक्रिया पूरी की गई. आजम खान को रामपुर सदर विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया गया है. उनके खिलाफ बीजेपी ने आकाश सक्सेना को अपना उम्मीदवार बनाया गया है.

आकाश सक्सेना पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

आकाश सक्सेना पेशे से वकील हैं. उन्होंने आजम खान के खिलाफ 33 मुकदमे दर्ज कराए थे. अब पहली बार वह विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. आकाश के पिता की बात करें तो उनका नाम शिव बहादुर सक्सेना है. आजम खान जब पहली बार रामपुर से चुनाव लड़ा तो बीजेपी की तरफ से शिवबहादुर सक्सेना ने ही उन्हें चुनौती दी थी. शिव बहादुर सक्सेना 1989, 1991,1993 और 1996 में विधायक निर्वाचित हुए थे. इनके विजय का रथ नवाब काजिम अली खान ने 2002 में रोका था.

रामपुर सीट से 9 बार विधायक चुने गए आजम खान

सपा सांसद मोहम्मद आजम खान रामपुर से 9 बार विधायक निर्वाचित हुए हैं. सबसे पहले उन्हें 1980 में जीत मिली थी. इसके बाद वह 1985, 1989, 1991 और 1993 में लगातार विधायक निर्वाचित हुए. हालांकि 1996 में कांग्रेस के अफरोज अली खान जीत दर्ज करने में कामयाब रहे, लेकिन इसके बाद 2002 से 2017 तक एक बार फिर आजम खान रामपुर से लगातार चार बार विधायक चुने गए. हालांकि सांसद बनने के बाद इस सीट से अब उनकी पत्नी तजीन फात्मा विधायक हैं.

Posted By: Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें