1. home Hindi News
  2. election
  3. 79 pc voting in goa assembly election 2022 maximum 90 pc vote in sanquelim minimum 70 percent at benaulim mtj

गोवा विधानसभा चुनाव में 78.94 फीसदी मतदान, सांखालिम सबसे ज्यादा 89.61% वोटिंग, बेनौलिम में सबसे कम

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि मतदान संपन्न होने के साथ ही गोवा में 301 उम्मीदवारों की हार-जीत ईवीएम में कैद हो गयी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Goa Assembly Election 2022: गोवा में शांतिपूर्वक मतदान संपन्न
Goa Assembly Election 2022: गोवा में शांतिपूर्वक मतदान संपन्न
PTI

Goa Assembly Election 2022: गोवा में 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए सोमवार को हुए चुनाव में 78.94 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. राज्य में मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ. निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि मतदान संपन्न होने के साथ ही गोवा में 301 उम्मीदवारों की हार-जीत ईवीएम में कैद हो गयी है.

सांखालिम में सबसे अधिक 89.61 प्रतिशत वोट

पणजी में प्रेसवार्ता के दौरान मुख्य निर्वाचन अधिकारी कुणाल ने कहा कि प्रदेश में सांखालिम (उत्तरी गोवा) विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 89.61 प्रतिशत जबकि दक्षिणी गोवा की बेनौलिम सीट पर सबसे कम 70.20 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया.

यह मतदान का संभावित प्रतिशत

गोवा के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि गोवा में 78.94 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है. कहा कि यह मतदान का संभावित प्रतिशत है. सटीक आंकड़ा बाद में उपलब्ध होगा. मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे खत्म हुआ. मतों की गिनती 10 मार्च को होगी.

पहले नंबर पर था प्रिओल

सांखालिम पिछली बार यानी वर्ष 2017 के चुनाव में वोटिंग के मामले में दूसरे नंबर पर रहा था. उस वक्त यहां 90.43 फीसदी लोगों ने मतदान किया था. पहले नंबर पर प्रिओल था, जहां 91.13 फीसदी लोगों ने वोटिंग की थी.

सांखालिम से लड़ रहे हैं सीएम प्रमोद सावंत

सांखालिम (उत्तरी गोवा) विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री और भाजपा नेता प्रमोद सावंत चुनाव लड़ रहे हैं. राज्य में 11 लाख से अधिक पात्र मतदाता थे. इनमें से 9,590 मतदाता दिव्यांग, 2,997 मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु के, 41 यौनकर्मी और 9 ट्रांसजेंडर शामिल हैं.

गोवा में बहुकोणीय मुकाबला

गोवा में बहुकोणीय मुकाबला है. यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस के साथ-साथ आम आदमी पार्टी (आप), तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और अन्य छोटे दल चुनाव मैदान में हैं. एक चुनाव अधिकारी ने बताया कि कोविड​​​​-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए, मतदाताओं को मतदान केंद्रों पर हाथ के दस्ताने उपलब्ध कराये गये हैं. महिला मतदाताओं की सुविधा के लिए राज्य में 100 से अधिक महिला मतदान केंद्र स्थापित किये गये हैं.

40 विधानसभा सीट पर 301 उम्मीदवार

गोवा विधानसभा की 40 सीट पर चुनाव के लिए 301 उम्मीदवारों ने भाग्य आजमाया. निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए मतदाताओं को मतदान केंद्रों पर दस्ताने उपलब्ध कराये जायेंगे. चुनाव पर निगरानी रखने के लिए राज्य में 81 उड़न दस्ते सक्रिय थे.

ये थे प्रमुख उम्मीदवार

प्रमुख उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)), विपक्ष के नेता दिगंबर कामत (कांग्रेस), पूर्व मुख्यमंत्री चर्चिल अलेमाओ (टीएमसी), रवि नाइक (भाजपा), लक्ष्मीकांत पारसेकर (निर्दलीय), पूर्व उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई (गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी)) सुदीन धवलीकर (महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी), पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर और मुख्यमंत्री पद के लिए ‘आप’ का चेहरा अमित पालेकर शामिल हैं.

वास्को डिगामा में सबसे ज्यादा 35,139 योग्य मतदाता

राज्य में प्रति बूथ पात्र मतदाताओं की औसत संख्या 672 है, जो देश में सबसे कम है. वास्को डिगामा विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 35,139 योग्य मतदाता थे, जबकि मोरमुगांव सीट में सबसे कम 19,958 मतदाता. कांग्रेस और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) ने गठबंधन में चुनाव लड़ा, जबकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने चुनाव लड़ने के लिए महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के साथ गठजोड़ किया.

शिवसेना ने एनसीपी के साथ किया गठबंधन

शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने भी चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की, जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आप किसी अन्य राजनीतिक दल के साथ गठबंधन के बिना चुनाव लड़ रही है. रिवॉल्यूशनरी गोअंस, गोएंचो स्वाभिमान पार्टी, जय महाभारत पार्टी और संभाजी ब्रिगेड के प्रत्याशियों के अलावा 68 निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में थे. कुल 105 महिला मतदान केंद्रों थे, जिन्हें ‘पिंक बूथ’ कहा जाता है. राज्य में वर्ष 2017 के चुनाव के दौरान 82.56 प्रतिशत मतदान हुआ था. उस वक्त कांग्रेस ने 17 सीटें जीती थीं, जबकि भाजपा को 13 सीटें मिली थीं.

पीएम मोदी-शाह, राहुल-प्रियंका ने वोट मांगे

भाजपा ने कुछ क्षेत्रीय संगठनों और निर्दलीय विजेताओं के साथ गठबंधन करके सरकार बनायी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पिछले एक महीने में भगवा दल के लिए प्रचार किया. भाजपा ने गोवा में चुनाव से पहले किसी दल के साथ गठबंधन नहीं किया है. कांग्रेस ने चुनाव में 37 और उसकी सहयोगी जीएफपी ने तीन उम्मीदवार खड़े किये हैं. कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा ने तटीय राज्य में अपनी पार्टी के लिए प्रचार किया था.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें