1. home Hindi News
  2. career
  3. school reopen 21 september health ministry new guidelines on exams neet upsc final year exams conducted during corona what teachers and students have to follow rules latest exam dishanirdesh in hindi smt

नीट, UPSC समेत होंगी अन्य परीक्षाएं, स्वास्थ्य विभाग की इन नयी गाइडलाइंस को करना होगा टीचर्स से स्टूडेंट तक को पालन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
School Reopen, how exams will be conducted in corona, Health Ministry guideline
School Reopen, how exams will be conducted in corona, Health Ministry guideline
Prabhat Khabar Graphics

School Reopen, Health Ministry issues Revised SOP, how exams will be conducted in corona : स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने गुरुवार को कोरोना (corona) महामारी के बीच परीक्षा के आयोजन के लिए कुछ गाइडलाइन (exams par sarkar ke dishanirdesh) तैयार किए है. जिन्हें छात्र से लेकर प्रबंधन तक को फॉलो करना होगा. दरअसल, परीक्षा केंद्रों पर बड़ी संख्या में छात्र आयेंगे, साथ ही उनके परिजन व प्रबंधन कर्मचारी भी मौजूद होंगे ऐसे में कोरोना के प्रसार की संभावनाएं ज्यादा हो सकती है. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए कुछ मानक तय किये गये है. आपको बता दें कि आने वाले समय में नीट (neet exam guidelines), यूपीएससी सिविल सेवा (upsc civil serivces exam 2020) समेत अन्य परिक्षाएं होने वाली है. ऐसे में आइये जानते हैं इस दौरान टीचर्स और स्टूडेंट्स को किन बातों का रखना होगा ख्याल...

दरअसल, जारी गाइडलाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना, बार-बार हाथ धोना, हैंड सैनिटाइटर का उपयोग करना, थर्मल स्कैनिंग और श्वसन संबंधी कुछ अनुसाशनों का पालन करना आदि शामिल है. जैसे- खांसते या छींकते समय विशेष सावधानी बरतना, सार्वजनिक स्थान पर नहीं थूकना और किसी भी बीमारी का संदेह होते ही हो फौरन रिपोर्ट करना आदि.

कोरोना काल में आयोजित होने वाली परीक्षा को लेकर ये है विशेष गाइडलाइन

  1. कंटेनमेंट जोन के परीक्षार्थियों की परीक्षा के लिए अलग से व्यवस्था होगी. उन्हें विश्वविद्यालयों, शैक्षणिक संस्थानों, एजेंसी के माध्यम से परीक्षा में अलग से भाग लेने का अवसर दिया जाएगा. फिलहाल कंटेनमेंट जोन के कर्मचारियों और परीक्षार्थियों को इस परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं होगी.

  2. विश्वविद्यालय, शैक्षणिक संस्थान और परीक्षा आयोजित करने वाले सभी अधिकारी अपने अनुसार परीक्षा तिथि निर्धारित कर सकते हैं. ताकि परीक्षा केंद्र पर ज्यादा भीड़ से बचा जा सके.

  3. परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय परीक्षा अधिकारी और परीक्षार्थी दोनों को अपनी स्वास्थ्य स्थिति के बारे में एक स्व-घोषणा पत्र देना होगा.

  4. परीक्षा के संचालन के दौरान प्रवेश से लेकर परीक्षा समाप्त होने तक सोशल डिस्टेंसिंग को पालन करवाने के लिए पर्याप्त मैनपावर लगाना होगा.

  5. डॉक्यूमेंट के सत्यापन के लिए और उपस्थिति की रिकॉर्डिंग हेतु परीक्षा के लिए रजिस्टर्ड रूम में पर्याप्त मैनपावर देनी होगी जो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ये कार्य करेंगे.

  6. कोविड-19 के संदर्भ में पर्यवेक्षकों और पर्यवेक्षी कर्मचारियों को जानकारी देनी होगी. और परीक्षा केंद्र को किसी कोरोना के लक्षण पाए गए व्यक्ति या परिक्षार्थियों को अलग करने के लिए एक आइसोलेशन रूम की व्यवस्था करनी होगी.

  7. इसके अलावा, प्रवेश द्वारों पर अनिवार्य रूप से हाथ को साफ करने के लिए सैनिटाइजर या साबून की व्यवस्था करनी होगी. साथ ही साथ थर्मल स्क्रीनिंग से स्कैन करना भी होगा. यदि कोई भी परीक्षा अधिकारी और परीक्षार्थी स्व-घोषणा के मानदंडों पर खरा नहीं उतरता है तो उन्हें परीक्षा रूम में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी.

  8. परीक्षा हॉल के अंदर केवल वैसे कर्मचारियों और छात्रों की एंट्री होगी जिनमें कोरोना के कोई भी लक्षण न दिखे. वहीं, जिनमें ऐसे लक्षण दिखते हैं उन्हें फौरन निकटतम स्वास्थ्य केंद्र में भेजा जाएगा. हालांकि, इस दौरान उनका डिटेल नोट करके बाद में परीक्षा देने का अवसर दिया जाना चाहिए.

  9. सभी कर्मचारियों और छात्रों को केवल फेस कवर या मास्क का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी. परीक्षा केंद्र के अंदर भी हर समय फेस कवर या मास्क पहनना पड़ेगा है. छात्रों और कर्मचारियों को प्रवेश करने से लेकर निकास द्वार तक भीड़भाड़ से बचने के उपायों को सुनिश्चित किया जाना चाहिए.

  10. प्रवेश करने से लेकर परीक्षा केंद्र के अंदर जाने तक न्यूनतम 6 फीट की दूरी बनाए रखने की व्यवस्था करनी होगी. प्रबंधन को इसे पालन करवाना बेहद जरूरी होगा.

  11. परीक्षा केंद्र के केवल अंदर ही नहीं बाहरी परिसर जैसे कि पार्किंग स्थल, वेटिंग एरिया समेत अन्य स्थानों पर भी भीड़ न लगे, ऐसी व्यवस्था करनी होगी. विद्यार्थी परीक्षा केंद्र में बैग, किताबें, मोबाइल आदि नहीं ले जा सकते हैं.

  12. परीक्षार्थियों को आइडी जांच के लिए अलग रूम में ले जाया जाएगा. जहां उनके दस्तावेजों का सत्यापन करने और उपस्थिति की रिकॉर्डिंग होने के बाद पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाए रखते हुए आवंटित परीक्षा हॉल में भेजा जाएगा.

  13. यदि आवश्यक हो तो थर्मल स्क्रीनिंग के बाद परीक्षार्थियों की फ्रिस्किंग की जाएगी. फ्रिस्किंग के दौरान कर्मचारी को दस्ताने के अलावा ट्रिपल-लेयर मेडिकल मास्क पहनना जरूरी होगा.

  14. सुरक्षा के सभी उपायों को वहीं से उपलब्ध करवाना होगा. जैसे फेस कवर, मास्क और हैंड सैनिटाइजर, साबुन आदि.

टीचर्स, स्टाफ या प्रबंधन को किन नियमों का करना होगा पालन

  1. परीक्षा केंद्र में आने वालों को बच्चों को हाथ साफ करवाना होगा.

  2. उनकी थर्मल स्क्रीनिंग भी करवानी जरूरी है.

  3. बाहर और भीतर भीड़ इकट्ठा न हो पाए इसकी पूरी व्यवस्था करनी होगी.

  4. टीचर्स या अन्य कर्मचारी को अपनी सेहत की सही जानकारी लिखित में देनी होगी.

  5. परीक्षा केंद्र पर दो सीटों के बीच छह फीट की दूरी रखनी होगी.

  6. एसी रूम का तापमान 24-30 डिग्री रखना होगा.

  7. आरोग्य सेतु ऐप रखना होगा, ये भी अनिवार्य है सभी के लिए.

  8. ऑनलाइन परीक्षा से पहले व बाद में कंप्यूटर, माउस, की-बोर्ड, डेस्क आदि को सैनिटाइज करवाना होगा.

  9. टाइम टेबल ऐसा रखना होगा कि परीक्षा केंद्र पर ज्यादा भीड़ न हो पाए.

  10. छात्रों और कर्मचारियों के लिए मास्क, सैनिटाइजर, साबुन की व्यवस्था करवानी होगी.

  11. भूल कर भी आंसर शीट बांटते समय थूक का इस्तेमाल करने की भूल न करें.

  12. पेपर, आंसर शीट बांटने से आंसर शीट एकत्र करने तक हर बार हाथ सैनिटाइज करना जरूरी होगा.

  13. परीक्षा केंद्र पर कोई बीमार हो जाए तो फौरन उसे दूसरे लोगों से अलग करके आइसोलेशन कक्ष या नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र भेजना होगा.

  14. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर पूरे परिसर सैनिटाइज कराना होगा.

छात्रों को किन नियमों का करना होगा पालन

  1. मास्क लगाकर आना अनिवार्य है. अपने साथ सुरक्षा उपकरण जैसे सैनिटाइजर वैगरह भी रख सकते हैं. हालांकि, परीक्षा केंद्र पर उपलब्ध करवाया जाएगा.

  2. परीक्षा हॉल में एंट्री करने समय पर्याप्त दूरी बनानी होगी

  3. छात्रों को अपनी सेहत की सही जानकारी लिखित में देनी होगी.

  4. परीक्षा केंद्र के परिसर में अंदर थूकने पर कार्रवाई की जा सकती है.

  5. बच्चों को पेपर या आंसर शीट लेने से पहले और देने के बाद हाथ सैनिटाइज करना होगा

  6. परीक्षा में इस्तेमाल वाले सारे सामग्री खुद से लाने होंगे. केंद्र में एक-दूसरे से अदला-बदली करने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध होगा.

  7. कंटेनमेंट जोन वाले छात्रों घबराए नहीं उन्हें बाद में परीक्षा का मौका दिया जाएगा.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें