WhatsApp पर आपके प्राइवेट मैसेज पढ़ता है कोई, चौंका देगी यह रिपोर्ट

Prabhat khabar Digital

अगर आपको लगता है कि व्हाट्सऐप पर आपकी प्राइवेट चैट्स सेफ हैं, तो एक बार फिर से सोच लीजिए. व्हाट्सऐप पर प्राइवेसी को लेकर एक बड़ा आरोप लगा है.

फेसबुक के स्वामित्व वाला इंस्टैंट मैसेंजर भले ही एंंड टू एंड एन्क्रिप्शन का दावा करे, लेकिन वास्तव में यह सिर्फ दिखावा है. प्रोपब्लिका ने अपनी खोजी रिपोर्ट में यह दावा किया है.

रिपोर्ट की मानें, तो मार्क जकरबर्ग भले ही दावा करें कि व्हाट्सऐप के 200 करोड़ यूजर्स द्वारा भेजे गए मैसेज, फोटो, वीडियो को कोई दूसरा नहीं देख सकता, लेकिन सच बिलकुल उलट है.

रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक ने दुनिया भर में 1000 से अधिक कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को व्हाट्सऐप के मैसेज पढ़ने और निगरानी के काम में लगाया है. हालांकि कंपनी इससे इनकार करती रही है.

इतना ही नहीं, कहा जा रहा है कि कंपनी ने अपने यूजर्स का डेटा कानूनी एजेंसियों के साथ भी शेयर किया है. बता दें कि व्हाट्सऐप हमेशा एनक्रिप्टेड मैसेज की सुविधा का बखान करता है.

रिपोर्ट के अनुसार, व्हाट्सऐप के पास एक हजार से ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स हैं, जो ऑस्टिन, टेक्सास, डबलिन और सिंगापुर में ऑफिस बिल्डिंग में यूजर के कंटेंट की जांच करते हैं.

फेसबुक ने भी इस बात को माना है कि ये कर्मचारी कई दिनों तक उस कंटेंट की छानबीन करते रहते हैं, जिनपर यूजर या कंपनी की तरफ से आपत्ति उठायी गई है या रिपोर्ट किया गया है.

इसके पीछे कंपनी की दलील है कि कई बार इसमें फ्रॉड और चाइल्ड पोर्न से लेकर संभावित आतंकी साजिशें शामिल होती हैं. इसलिए उन्हें ऐसा करना पड़ता है.

जब यूजर्स रिपोर्ट बटन दबाते हैं, तो मॉडरेटर्स को यूजर्स के कंटेंट का ऐक्सेस मिल जाता है. इससे रिपोर्ट किये गए एक मैसेज सहित पहले के पांच मैसेज भी पहुंच जाते हैं. इनमें फोटो-वीडियो भी हो सकते हैं.

इन मैसेज के अलावा कर्मचारी यूजर के व्हाट्सऐप ग्रुप, प्रोफाइल पिक्चर, फोन नंबर, स्टेटस मैसेज, फोन का बैटरी लेवल, भाषा और संबंधित फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स भी देख सकते हैं.

ProPublica का कहना है कि व्हाट्सऐप कानूनी एजेंसियों के साथ मेटाडेटा या अन-एनक्रिप्टेड रिकॉर्ड्स साझा करता है, जो यूजर्स की ऑनलाइन गतिविधियों के बारे में काफी जानकारी दे सकते हैं.