FIood Photo: बिहार में बाढ़ से हाहाकार, तसवीरों में देखें कैसे मची तबाही

Prabhat khabar Digital

गंगा के बढ़ते जल स्तर के कारण बक्सर स्थित श्मशान घाट पर शव जलाने के लिये जगह नहीं बचा है. वही शहर के छुमंतर गली में भी गंगा का प्रवेश कर गया है.

बक्सर में गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. रविवार की सुबह आठ बजे ही बक्सर में गंगा का जल स्तर खतरे के निशान से 12 सेंटीमीटर ऊपर रहा. कई इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है.

बक्सर जिले में नाथ बाबा घाट की सीढ़ियां पानी में डूब गयी हैं. बाढ़ से हालात बिगड़ने लगे हैं.

गंगा के सहायक नदियों कर्मनाशा व ठोरा में भी बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. जिससे कई इलाके जलमग्न हो गये हैं.

हाइवे पर दो फुट पानी बह रहा है. जिसके बीच से ही यात्रियों को गुजरना पड़ रहा है.

बिहार में लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति और खराब हो गयी है. सूबे के कई इलाके जलमग्न हो गये हैं.

बारिश के कारण नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. कइ नदियों में पानी का स्तर खतरे के निशान के ऊपर है. कई जगह लोग जान जोखिम में डालकर मस्ती करते दिख रहे हैं.

बाढ़ का पानी शहरी इलाकों में भी प्रवेश कर चुका है. बक्सर की हालत काफी बिगड़ चुकी है. कई इलाके जलमग्न हो गये हैं.

लगातार बारिश होने के कारण नदियों में ऊफान है. बाढ़ का संकट गहरा गया है. लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं.

बाढ़ के कारण कटिहार, भागलपुर, बक्सर समेत कई जिले प्रभावित हैं. गंगा के अलावा कोशी गंडक व कई प्रमुख नदियों में ऊफान है. लोग जगकर रात काटने को मजबूर हैं.

सड़क पर पानी चढ़ने से बाहर निकलने के सारे रास्ते बंद हो चुके हैं. अब लोग चचरी पुल के सहारे आवागमन करने को विवश हैं.

दियारा इलाके की फसलें जलमग्न हो गयी हैं. गंगा का जल स्तर बढ़ने से गांवों की फसलें गंगा की पानी में डूब गयी हैं.

बाढ़ का पानी दियारा के इलाकों में घुस चुका है. जिसके कारण लोगों की फसलें भी बर्बाद हो चुकी है. घरों में पानी घुसने के कारण लोग पलायन करने लगे हैं.

बाढ़ का पानी शहरी इलाकों में भी प्रवेश कर चुका है. लोगों के घरों में पानी भरने लगा है. आज भी प्रशासन के तरफ से ठोस सुविधा नहीं दी गयी है.

कई पंचायतों के गांव बाढ़ के पानी से घिर गये हैं. लोगों को मजबूरन घरों में कैद होना पड़ा है. लोगों का जनजीवन प्रभावित हुआ है. भोजन-पानी पर आफत हो चुका है.

लगातार बढ़ रहे गंगा के जल स्तर से लोग अब सुरक्षित स्थानों पर शरण लेने के लिये विवश हो गये हैं

दियारे के लोगों की परेशानी बढ़ गयी है. गंगा खतरे के निशान से ऊपर है. दर्जनों घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है.

पटना में गंगा नदी के जलस्तर में दीघा घाट के पास मामूली कमी दर्ज की गयी है. अन्य जगहों पर इसका जलस्तर अब भी खतरे के निशान के पार है.

घाट पर दोपहर में बच्चों और युवाओं की टोली गंगा में छलांग लगाकर नहाते हुए देखे गये. बावजूद इसके यहां इन्हें रोकने के लिए कोई प्रशासनिक पहल नहीं की गई.

POSTED BY: Thakur Shaktilochan