टीम इंडिया के कप्तान के रूप में विराट कोहली ने खेली कई बेहतरीन पारियां, आप भी जानें...

Prabhat khabar Digital

विराट कोहली ने गुरुवार को घोषणा की कि वह 17 अक्टूबर से 14 नवंबर तक संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में होने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के बाद टी-20 टीम की कप्तानी से हट जायेंगे. कोहली ने अपने फैसले की घोषणा सोशल मीडिया पर की.

इस कदम के पीछे के कारण के रूप में उन्होंने पिछले कुछ वर्षों में अत्यधिक कार्यभार का हवाला दिया. उन्होंने 2017 में एमएस धोनी से पूर्णकालिक टी-20 कप्तानी संभाली थी और कप्तान के रूप में 45 टी-20 मैचों में भारत का नेतृत्व किया, उनमें से 27 में जीत हासिल की.

वेस्टइंडीज के खिलाफ 2019 में नाबाद 94 रन : हैदराबाद में तीन मैचों की श्रृंखला के पहले टी-20 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 208 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली ने 50 गेंदों में छह छक्कों और छह चौकों की मदद से नाबाद 94 रन की पारी खेली. कोहली ने भारत को आठ गेंद शेष रहते जीत दिलाने में मदद की थी.

वेस्टइंडीज के खिलाफ 29 गेंद में नाबाद 70 रन : 2019 में मुंबई में कोहली ने अपने करियर की सबसे तेज टी-20 पारियों में से एक खेली. अंतिम मैच में केवल 29 गेंदों में नाबाद 70 रन बनाए. जिसमें 240 से अधिक के स्ट्राइक रेट से 7 छक्के और 4 चौके शामिल हैं.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 72 रन : 2019 में मोहाली में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को दूसरे टी-20 में 150 रनों का लक्ष्य दिया था. कोहली नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने आए. कप्तान ने 72 रनों की तेज पारी खेली और नाबाद रहे. उन्होंने अपनी टीम को सात विकेट से आसान जीत दिलाई.

न्यूजीलैंड के खिलाफ 2017 में 65 रन : राजकोट में विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 श्रृंखला के दूसरे गेम में 42 गेंदों पर 65 रन बनाए. लेकिन कीवी पेसर ट्रेंट बाउल्ट ने चार शीर्ष क्रम के विकेट चटकाए और जीत हासिल करने में न्यूजीलैंड की मदद की.

श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में 82 रन : 2017 में श्रीलंका के खिलाफ एकमात्र T20I में 171 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए, भारत ने कप्तान कोहली के कार्यभार संभालने से पहले पावरप्ले के ओवरों में दोनों सलामी बल्लेबाजों को खो दिया. भारतीय कप्तान ने 151.85 के स्ट्राइक रेट से 82 रन बनाए और अपनी टीम को एक करीबी मुकाबले में सात विकेट से जीत दिलाई.