मई महीने में कब पड़ रहा साल का पहला Chandra Grahan 2021, कहां दिखेगा, सूतक काल मान्य होगा या नहीं, देखें सभी जानकारियां

Prabhat khabar Digital

साल का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई को लगेगा. जिस दिन वैशाख पूर्णिमा पड़ रही है. यह दोपहर 2 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा जो शाम 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा.

ज्योतिष मामलों के जानकार के अनुसार, इसका सबसे अधिक प्रभाव, वृश्चिक राशि और अनुराग अनुराधा नक्षत्र पर पड़ने वाला है.

यह एक उपछाया चंद्रग्रहण होगा. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस का सूतक काल मान्य नहीं होता है.

दरअसल, सूतक काल ग्रहण के 9 घंटे पूर्व शुरू हो जाता है जिस दौरान मंदिर के कपाट बंद करने पड़ते है और शुभ कार्यों पर रोक लग जाती है.

भारत में यह उपछाया की तरह ही दिखेगा. जबकि अमेरिका, उत्तरी, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत सागर व पूर्वी एशिया समेत अन्य स्थानों पर पूर्ण रुप से दिखाई देने वाला है.

दरअसल, चंद्रमा जब धरती की छाया में प्रवेश करता है और पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश किए बिना बाहर चला जाता है तो उसे उपछाया ग्रहण कहते है.

इस साल 26 मई के अलावा 19 नवंबर को भी चंद्र ग्रहण लगने वाले हैं जो आंशिक ग्रहण होगा. कुल मिलाकर 4 ग्रहण लगेंगे जिसमें दो सूर्य ग्रहण होगा और दो चंद्र ग्रहण.