Chaiti Chhath Puja 2021: डूबते सूर्य को अर्घ्य आज शाम में, जानें सुबह का अर्घ्य देने की विधि व समय के बारे में

Prabhat khabar Digital

आज शाम में बंटेगा खरना का भोग. कई स्थानों पर गुड़ की खीर, पीट्ठा, और कुछ स्थानों पर विशेष प्रकार के दाल भात का भोग चढ़ता है.

वहीं, छठ व्रती आज से 36 घंटों का निर्जला व्रत रखेंगी. जो सुबह के अर्घ्य के बाद अर्थात पारण के बाद टूटेगा.

आपको बता दें कि पहला अर्घ्य कल शाम यानी 18 अप्रैल को सूर्यास्त के समय दिया जाएगा. वहीं दूसरा अर्घ्य 19 अप्रैल की सुबह सूर्यास्त से पहले देने की परंपरा होती है.

भगवान सूर्य को अर्घ्य देते समय आपका मुंह पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए. थोड़ा सिर झुकाकर मंत्र बोलते-बोलते अर्घ्य देना सही माना गया है.

अर्घ्य देने के लिए ताम्र पात्र का उपयोग करना चाहिए. इसमें दूध और जल से अर्घ्य देना चाहिए.

पहले अर्घ्य की शाम यानी 18 अप्रैल 2021 की शाम 06 बजकर 11 मिनट में सूर्यास्त हो जाएगा. जबकि, दूसरे अर्घ्य की सुबह 05 बजकर 24 मिनट पर सूर्योदय हो जाएगा. ऐसे में इससे पहले आपको अर्घ्य दे देना होगा.