Cyclone Yaas Updates : उखड़ गया इतना विशाल पेड़, चक्रवात तूफान 'यास' पहुंचा झारखंड

Prabhat khabar Digital

चक्रवाती तूफान ‘यास' (Cyclone Yaas) बुधवार रात 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की हवाओं और भारी बारिश के साथ झारखंड की सीमा में पहुंचा.

pti

झारखंड में लगातार बारिश जारी है. दोपहर तक तूफान के चलते कोल्हान इलाके में 90 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की आशंका है.

pti

पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफ़ान 'यास' को लेकर प्रशासन सतर्क है. सूबे के नयाचारा में क़रीब सौ लोगों को एयर कुशन व्हीकल के ज़रिए बचाया गया.

pti

ओडिशा के केन्द्रापाड़ा में चक्रवाती तूफ़ान यास की तेज़ हवाओं के चलते बहुत सारे पेड़ जड़ से उखड़ चुके हैं. फ़ायर सर्विस विभाग की टीम ने मनिकुनाबा में सड़कों को साफ़ कराने का काम किया है. चक्रवाती तूफ़ान की वजह से अभी भी कई इलाक़ों में जन-जीवन अस्त-व्यस्त नजर आ रहा है.

pti

पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर में आठ गांवों में पानी भर चुका है. ग्रामीणों दूसरी जगह अपना ठिकाना ले गये हैं. गांव में लगातार बारिश हो रही है, जिससे ये सारे गांव जलमग्न नजर आ रहे हैं.

pti

ओडिशा के बालासोर और भद्रक जिलों में 128 गांवों में पानी भर चुका है जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इन गांवों के लिए सात दिनों तक राहत पहुंचाने का ऐलान किया है.

pti

ओडिशा के संवेदनशील क्षेत्रों से 6.5 लाख लोगों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है और पश्चिम बंगाल में 15 लाख लोगों को शरणस्थलों पर पहुंचाया गया है.

pti

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मानें तो राज्य में चक्रवात से एक करोड़ लोग प्रभावित हुए है.

pti

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि ‘लगभग पूरे पश्चिम बंगाल में पानी भर गया है. कई तटबंध टूट चुके हैं और समुद्र का पानी दक्षिण 24 परगना के सागर एवं गोसाबा जैसे क्षेत्रों और पूर्व मिदनापुर के मंदारमणि, दीघा और शंकरपुर जैसे तटीय क्षेत्रों में प्रवेश कर गया है.

pti

चक्रवात को देखते हुए झारखंड में लोगों को अगले चौबीस घंटे घरों में ही रहने को कहा गया है और कोल्हान प्रमंडल के पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला, पश्चिमी सिंहभूम, बोकारो के अलावा खूंटी एवं पश्चिमी सिंहभूम जिलों में निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम प्रशासन की ओर से जारी है.

pti

भारतीय तटरक्षक (आईसीजी) के तीन जहाज चक्रवात यास के तांडव के बाद "स्थिति का आकलन" करने के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटों पर पहुंच रहे हैं.

pti

चक्रवात यास के तांडव की वजह से इतना विशाल उखड गया.

pti