World Rose Day 2021: कैंसर से लड़ने वाले लोगों को जीने की प्रेरणा देता है विश्व गुलाब दिवस, जाने इसका इतिहास

Prabhat khabar Digital

विश्व गुलाब दिवस हर साल कनाडा की 12 वर्षीय मेलिंडा रोज के सम्मान में मनाया जाता है जो ब्लड कैंसर से पीड़ित थी.

डॉक्टरों ने भविष्यवाणी की कि मेलिंडा कुछ हफ्ते से अधिक जीवित नहीं रहेगी, लेकिन वह छह महीने और जीवित रही. उस अवधि के भीतर, वह अन्य कैंसर रोगियों से मिलीं और उनके जीवन को खुशियों से भर दिया.

इन 6 महीनों में मेलिंडा ने कैंसर रोगियों के साथ समय बिताया. उनके जीवन में कुछ खुशियाँ लाने के लिए छोटे नोट्स, कविताएं और ई-मेल लिखें। खुशी और आशा फैलाना उसके जीवन का मिशन बन गया था.

इस दिन को मनाने का खास मकसद ही कैंसर से लड़ने वाले लोगों को जीने की प्रेरणा देना और उनके जीवन में खुशियां लाना है. ये दिन कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए है. यह एक ऐसा दिन है जो कैंसर से लड़ने वाले लोगों में आशा और उत्साह फैलाने के लिए समर्पित है.

विश्व गुलाब दिवस पर जरूरी है कि हम समय निकालें और कैंसर के मरीजों के साथ बिताएं.

गुलाब कोमलता, प्रेम और देखभाल का प्रतीक है. विश्व गुलाब दिवस पर कैंसर रोगियों को फूल दिया जाता है ताकि उन्हें यह बताया जा सके कि हम उनकी कितनी देखभाल करते हैं.

गुलाब का फूल देकर लोग ये जताते हैं कि कैंसर के खिलाफ इस लड़ाई में वह अकेले नहीं हैं. दुर्भाग्य से मेडिकल और विज्ञान के क्षेत्र में अभी तक कैंसर के लिए एक पूर्ण इलाज नहीं मिल पाया है