रेलवे ने 2016 से अबतक चलायी 800 नयी ट्रेन, 2023 तक चलेंगी, 75 नयी वंदे भारत एक्सप्रेस

Prabhat khabar Digital

साल 2016 में रेल बजट को आम बजट के साथ मिलाने के बाद से अबतक रेलवे ने करीब 800 नयी गाड़ियां चलायी है, इस बात की जानकारी आरटीआई के तहत मिली है.

मध्य प्रदेश के रहने वाले चंद्र शेखर गौड़ ने आरटीआई दाखिल किया था जिसके जवाब में रेलवे बोर्ड ने यह जानकारी दी है. हालांकि साल 2020-21 में कोविड-19 महामारी के कारण रेलवे ने कोई नयी गाड़ी नहीं चलायी है.

रेलवे बोर्ड ने बताया कि वित्तवर्ष 2020-21 में कोई नयी ट्रेन नहीं चलायी गयी. लेकिन 2019-20 में 144, वर्ष 2018-19 में 266, वर्ष 2017-18 में 170 और वर्ष 2016-17 में 223 नयी रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू किया था.

Prabhat Khabar

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने वर्ष 2015-16 का रेल बजट पेश करते हुए एक भी नयी रेलगाड़ी शुरू करने या मौजूदा रेलगाड़ियों की सेवा का विस्तार करने की घोषणा नहीं की थी.

वर्ष 2014-15 में डीवी सदानंद गौड़ा ने 2014-2015 में पांच जन साधारण, पांच प्रीमियम और छह वातानुकूलित रेलगाड़ी, 27 नयी एक्सप्रेस रेलगाड़ी, आठ सवारी गाड़ी, पांच डेमू और छह मेमू चलाने की घोषणा की थी.

पहले रेल बजट का इंतजार इसलिए किया जाता था क्योंकि इसमें नये ट्रेनों की घोषणा होती थी, लेकिन अब जरूरत के अनुसार ही नयी गाड़ियों का परिचालन होता है.

twitter

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि अगस्त 2023 तक आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर रेलवे 75 नयी वंदे भारत एक्सप्रेस की शुरुआत करेगा.