Advertisement

siliguri

  • Apr 21 2017 8:02AM

जीन्स पहनने पर महिला व उसके परिवार का बहिष्कार

जीन्स पहनने पर महिला व उसके परिवार का बहिष्कार
सिलीगुड़ी : 4जी के इस दौर में जीन्स पहनना एक  महिला को भारी पड़ गया. आज पूरे देश में महिला सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है.उसके बाद भी  सिलीगुड़ी में जीन्स पैंट पहनकर काम पर जाना एक महिला के जीवन की सबसे बड़ी भूल बन गयी है. जीन्स पैंट पहनने की वजह से स्थानीय लोगों ने उस महिला को  पूरे परिवार सहित इलाके से निकाल दिया है. वह अपने परिवार के साथ दर-दर भटक रही है. 
 
इस अत्याधुनिक युग में एक महिला के पहनावे को लेकर इतना बड़ा हंगामा सिलीगुड़ी से सटे माटीगाड़ा ग्राम पंचायत के तुंबाजोत इलाके में हुआ है. पीड़ित महिला अपने दो बच्चों और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ दर-दर भटक रही है. अपना घर होने के बाद भी उसे किराये के मकान में रहना पड़ रहा है. उसके पहनावे पर उंगली उठाने वाले कुछ कथित बुद्धिजीवियों ने इलाके में  प्रवेश पर फतवा जारी कर दिया है. डर के मारे महिला परिवार के साथ पिछले छह महीने से इधर-उधर भटक रही है. मिली जानकारी के अनुसार, पीड़िता सिलीगुड़ी के हिलकार्ट रोड स्थित एक कपड़े की दुकान में काम करती थी. 
 
तुंबाजोत इलाके में उसकी अपनी भी एक कपड़े की दुकान है. बीते वर्ष  नवंबर महीने में जीन्स पहनने की वजह से इलाके के कुछ लोगों ने तंज कसा. उसके बाद उसके साथ काफी मारपीट भी की गयी. उनका तर्क है कि एक गृहवधू का जीन्स पहन कर बाहर आना-जाना कतई बरदाश्त नहीं किया जा सकता. जीन्स पैंट पहनने की वजह से इलाके की युवतियां खराब हो रही हैं. महिला ने इस घटना के खिलाफ माटीगाड़ा थाने में एक प्राथमिकी भी दर्ज करायी. 
 
महिला के पति ने भी इलाका वासियों का विरोध किया. उसके बाद ही इलाके के लोगों ने उग्र रूप धारण कर लिया. महिला सहित उसके परिवार पर इतना कहर बरपाया कि वह इलाका छोड़ने पर बाध्य हो गयी. इलाका वासियों ने उसकी दुकान तक बंद करा दी. इधर घटना की वजह से महिला की नौकरी भी छूट गयी. अपने दो बच्चे, माता-पिता व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ पति-पत्नी भटक रहे हैं. कानून से न्याय नहीं मिलने पर महिला ने एक स्वयंसेवी संगठन की शरण में पहुंची है. इसके अलावा सिलीगुड़ी महिला थाने में शिकायत भी दर्ज करायी गयी है.
नेशनल एंटी क्राइम के चेयरमैन दिवस लामा ने बताया कि जीन्स पैंट पहन कर काम पर जाना एक आम बात है. एक आत्म निर्भर महिला के जीन्स पैंट पहनने पर किसी को क्या आपत्ति हो सकती है.
 
बल्कि एक छोटे परिवार की यह महिला इलाके की अन्य लड़कियों के लिये प्रेरणास्त्रोत है. सिर्फ जीन्स पहनने की वजह से एक महिला के साथ इतना अन्याय कैसे किया जा सकता है. श्री लामा ने बताया कि महिला ने इस संबंध में एक लिखित शिकायत उन्हें दी है. संगठन इस संबंध में पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर महिला को न्याय दिलाने की कोशिश कर रही है. 
 
घर छोड़ परिवार संग दर-दर भटकने को मजबूर, सिलीगुड़ी की घटना
 
क्या कहती है पुलिस: इस संबंध में माटीगाड़ा थाने की पुलिस ने बताया कि जीन्स पहनने की वजह से एक महिला के साथ मारपीट व प्रताड़ित करने का मामला नवंबर महीने में दर्ज हुआ था. महिला के आरोप पर दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया था. अदालत से उन्हें जमानत मिल गयी. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement