Advertisement

patna

  • Mar 27 2016 7:28AM

पीएम को पत्र, तंबाकू उत्पादों पर सचित्र चेतावनी 85 फीसदी हो

पटना : प्रदेश सहित देश के 653 चिकित्सकों और मेडिकल सोसाइटीज के पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री से अपील की है कि वह एक अप्रैल 2016 से तंबाकू उत्पादों पर नई चित्रात्मक चेतावनियां लागू करें. तंबाकू के सेवन के कारण होने वाली मौत के गवाह रहे इन चिकित्सकों ने पीएम को लिखे पत्र में अनुरोध किया है कि वे ताकतवर तंबाकू लॉबी को सरकार के तंबाकूरोधी उपायों को नष्ट करने से रोकने के लिए आगे आएं. 
 
इस पत्र में प्रधानमंत्री को उनके द्वारा 31 मई 2014 को फेसबुक पर डाला गया उनका संदेश भी याद दिलाया गया. टाटा मेमोरियल अस्पताल के प्रोफेसर और सर्जन डॉ. पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री का फेसबुक संदेश जन स्वास्थ्य के इस अहम मुद्दे के लिए उनकी निजी प्रतिबद्धता को दर्शाता है.
 
सेखसरिया इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ के निदेशक डॉ. पी. सी. गुप्ता ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अधीनस्थ कानून समिति चित्रात्मक चेतावनी के लिए अधिसूचना में देरी करने के लिए और इसे कमजोर करने के लिए दबाव बना रही है. वॉयस ऑफ तंबाकू विक्टम्सि कैंपेन के चीफ ऑफ ऑपरेशन्स संजय सेठ ने कहा कि लगभग 10 लाख भारतीय हर साल तंबाकू की वजह से मर जाते हैं और लगभग 50 प्रतिशत कैंसरों की वजह तंबाकू होती है. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement