Advertisement

patna

  • Apr 21 2017 6:20AM

बिहार के कई जिलों में आंधी-पानी ने मचायी तबाही ध्वस्त हुए घर, गयीं कई जानें

बिहार के कई जिलों में आंधी-पानी ने मचायी तबाही ध्वस्त हुए घर, गयीं कई जानें
सीतामढ़ी : जिले में गुरुवार को आंधी-पानी से भारी तबाही हुई है. इससे पांच दर्जन से अधिक मकान ध्वस्त हो गये. वहीं, मकान में दब कर मेजरगंज वार्ड तीन निवासी बिंदेश्वर पासवान की पत्नी अनारी देवी की मौत हो गयी और अन्य लोग जख्मी हो गये. रीगा, मेजरगंज, बैरगनिया व पुपरी समेत कई इलाकों में बिजली सेवा बाधित रही. 
 
पूर्वी चंपारण : ठनके की तेज आवाज ने ले ली जान
 
जिले के पताही थाने के पदुमकेर गांव निवासी रिटायर्ड प्रो मदन सिंह की गुरुवार को ठनके की आवाज से मौत हो गयी. वह आइआइटी खड़गपुर से पिछले वर्ष रिटायर्ड हुए थे. वह मोतिहारी से पदुमकेर लौट रहे थे. ग्रामीणों ने बताया कि बसहिया पुल के करीब ठनके की आवाज से उनकी जान चली गयी. 
 
मधुबनी : आंधी से गिरी दीवार, अधेड़ ने तोड़ा दम
 
बिस्फी प्रखंड क्षेत्र मे गुरुवार को आयी आंधी एवं ओला गिरने से फसल का नुकसान हुआ. वहीं, भोजपंडौल निवासी गणेश पासवान की मौत दीवार व लिंटर के गिरने से हो गयी. वह घर में अकेले सो रहा था. इसी दौरान तेज हवा से ताड़ का पेड़ टूट कर घर पर ही गिर गया. इससे मकान की गिर गया. इसमें दब कर गणेश पासवान की मौत हो गयी.
 
भागलपुर : आम, लीची व गेहूं की फसलों को क्षति
 
कोसी व पूर्व बिहार में गुरुवार को आंधी-पानी व ठनके से से लगभग आधा दर्जन लोगों की मौत हो गयी. वहीं, कई घर ध्वस्त हो गये. गुरुवार की सुबह से शुरू हुई बारिश आठ घंटे तक होती रही. इससे आम, लीची व गेहूं को काफी नुकसान हुआ. आम के टिकोले, लीची टूट कर गिर गये. इधर, खेत में लगी गेहूं की फसल को काफी नुकसान हुआ है.
 

 

Advertisement

Comments

Advertisement