Advertisement

Delhi

  • Feb 3 2017 8:32PM

पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घाेषित करने की भारतीय सांसद ने उठायी मांग, राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर्स रेजॉलूशन पेश

पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घाेषित करने की भारतीय सांसद ने उठायी मांग, राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर्स रेजॉलूशन पेश

नयी दिल्ली. भारतीय संसद से यह अपील की गयी है कि पाकिस्तान को टेरर स्टेट यानी आतंकी राष्ट्र घोषित किया जाए. इसे लेकर राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर्स रेजॉलूशन (निजी सदस्‍य प्रस्‍ताव) पेश किया गया है और उम्‍मीद जतायी है कि संसद के आगामी शीत सत्र में इस पर विचार किया जायेगा. इस प्रस्‍ताव का नाम 'पाकिस्‍तान स्‍टेट स्‍पॉन्‍सर ऑफ टेरर'  यानी 'पाकिस्‍तान आतंकवाद प्रायोजित करने वाला राष्‍ट्र' है.

यह अपील ऐसे समय में की गयी है, जब कुबैत ने इरान, ईराक, सीरिया और अफगानिस्तान के साथ-साथ पाकिस्तान को भी बीजा देने पर रोक लगा दी है. यह रोक आतंकवाद को लेकर लगायी गयी है. डोनाल्ड ट्रंप ने भी राष्ट्रपति पद का शपथ लेने के हफ्ते भर के भीतर बड़ा निर्णय लेते हुए ईरान, इराक, सीरिया, लीबिया, यमन, सूडान और सोमालिया, इन सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगा दी. अफगानिस्तान और सऊदी अरब के साथ-साथ पाकिस्तान को भी निगरानी सूची में डाला गया है. यह फैसला अमेरिकी नागरिकों को इस्लामिक आतंकवादियों के हमलों से बचाने के लिए किया गया. नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद पाकिस्तान से पहले बेहतर संबंध बनाने की कोशिश की और जब पाकिस्तान के रवैये में बदलाव नहीं आया, तब उन्होंने वैश्विक मंच पर और वैश्विक स्तर पर आक्रामक रुख अख्तयार किया. यह रुख पाकिस्तान को पूरी दुनिया में आतंक-पोषक देश साबित करना और विश्व विरादरी में उसे अलग-थलग करने का रहा है. इस बात का पाकिस्तान को भी अहसास है कि वह जिस आतंकवाद के भरोसे राजनीति करता रहा है, वह अब उसके लिए भारी पड़ने वाली है. लिहाजा पहले तो उसने चीन, रूस और कुछ खाड़ी देशों के साथ अपने भारत विरोधी तेवर से साथ बेहतर संबंध बनाने की कोशिश की. इसमें राजनैतिक, व्यापारिक और सामरिक, इन तीनों स्तारों पर करार भी किये, मगर इसके बाद भी उसका आतंकी चेहरा दुनिया के आगे उसे कठघरे में खड़ा करता रहा. लिहाजा उसने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को दूसरी बार नजरबंद किया.

मगर इतने भर की कार्रवाई से पाकिस्तान हिंदुस्तान और दुनिया के बाकी देशों का भरोसा नहीं जीत सकता. भारत ने तो यह बात हाफिज सईद की नजरबंदी की खबर आने के तुरत बाद ही कह दी, उधर कुबैत ने भी अन्य चार देशों के साथ-साथ पाकिस्तान के नागरिकों को भी बीजा देने पर प्रतिबंध लगा कर यह बता कि उसे भी पाकिस्तान पर भरोसा नहीं है.

  दरअसल, जम्‍मू-कश्‍मीर के उड़ी में हुए आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्‍तान को आतंकवादी राष्‍ट्र घोषित करने की मांग उठने लगी. अमेरिकी संसद में इस बारे में बिल पेश हुआ. अब भारतीय संसद (राज्‍यसभा) में पाकिस्‍तानी को आतंकी मुल्‍क घोषित करने की मांग पर प्रस्‍ताव दाखिल किया गया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख इस बारे में जानकारी दी गयी है.


राज्यसभा सदस्य राजीव चंद्रशेखर ने संसद से यह प्रस्ताव लाया है कि पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित किया जाए. चंद्रशेखर भाजपा सांसद हैं. उन्होंने कहा, 'हमने संसद से अपील की है कि पाकिस्तान काे टेरर स्टेट घोषित किया जाए. जब तक भारत ऐसा नहीं करेगा, तब तक दुनिया में ऐसा कहीं नहीं होगा.'


 


Advertisement

Comments

Advertisement