पटना
नाम बड़े और दर्शन छोटे
By Prabhat Khabar | Publish Date: Sep 11 2013 3:50AM | Updated Date: Sep 11 2013 3:50AM
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • Big font Small font

।। सुमित ।।

दर्जा प्लस का, मगर सुविधाएं कुछ भी नहीं

पटना : पटना जंकशन पूर्व मध्य रेल के उन छह गिने-चुने स्टेशनों में शामिल है, जिन्हें प्लस का दर्जा प्राप्त है. यहां से हर साल साढ़े तीन अरब से अधिक यात्री या अपने सफर की शुरुआत करते हैं या गुजरते हैं. इससे रेलवे को सालाना करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये की आय होती है. लेकिन, जंकशन पर यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं भी मयस्सर नहीं होतीं.

कभी आरक्षण टिकट काउंटर का प्रिंटर खराब हो जाता है, तो कभी अनारक्षित टिकट काउंटर पर पर्याप्त संख्या में कर्मी नहीं होते. वेटिंग हॉल के एसी पंखे अक्सर खराब रहते हैं. प्लेटफॉर्म संख्या छह से दस तक पर कोच इंडिकेटर नहीं है. यह स्थिति तब है, जब यात्रियों के आवागमन के मामले में पूर्व मध्य रेल के कुल 687 स्टेशनों में पटना जंकशन पहले स्थान पर है.

नहीं लगा इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले : यात्रियों की सुविधा की दृष्टि से उपयोगी इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम अब तक नहीं लग पाया है. पूमरे के ही धनबाद स्टेशन पर यह सुविधा काफी पहले उपलब्ध है. यह पारंपरिक प्रिंटेड आरक्षण चार्ट का नया स्वरूप है, जिसमें एलसीडी मॉनीटर के माध्यम से आरक्षण चार्ट का डिस्प्ले किया जा सकता है.

दूसरे जोन में 2007 से ही इसे लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई, मगर अब तक इसमें कामयाबी नहीं मिली. इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम लगने पर सिर्फ माउस के एक क्लिक से ही चार्ट प्लेटफॉर्मो पर लगे डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शित हो जायेगा. रात हो या दिन, इसकी विजिबिलिटी हमेशा क्लियर रहेगी. इसमें तो छेड़छाड़ किया जा सकेगा और ही फाड़ा जा सकेगा.

मांग के आधार पर इसे दूसरे नेटवर्क पर भी स्थानांतरित किया जा सकेगा. इस पर कंफर्म बर्थ साथ ही वेटिंग लिस्ट भी दिखेगी.

क्वाइन वेंडिंग ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट मशीन योजना भी अधर में : दानापुर मंडल के वरीय अधिकारियों ने जंकशन पर ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट के साथ क्वाइन वेंडिंग मशीन लगाने की योजना बनायी थी. लेकिन, इसे अब तक अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका है. इसके कारण हर दिन प्लेटफॉर्म टिकट काउंटर पर लंबी लाइन लगती है, जबकि खुदरा पैसे के लिए कई बार उनको काउंटरों पर ठगी का शिकार भी होना पड़ता है.

नहीं लगे एटीएम काउंटर : रेल प्रशासन ने जंकशन के करबिगहिया छोर पर कई एटीएम काउंटर लगाने की योजना बनायी थी, लेकिन उसे भी अब तक धरातल पर नहीं उतारा जा सका है. मुख्य पार्किग परिसर में पांच एटीएम हैं, जिनमें हमेशा लंबी लाइन लगी रहती है.

कोच इंडिकेटर नहीं : जंकशन के प्लेटफॉर्म संख्या छह से लेकर दस तक कोच इंडिकेटर नहीं है. इसके चलते यात्रियों को भीड़-भाड़ भरे माहौल में बोगी खोजने में परेशानी होती है. यात्रियों की शिकायत है कि जिन प्लेटफॉर्म पर पहले से ही कोच इंडिकेटर लगे हैं, वह भी सही से काम नहीं करते. जंकशन से शुरू होनेवाली गाड़ियों की बोगियां तो डिस्प्ले हो जाती हैं, मगर जंकशन होकर गुजरनेवाली ट्रेनों के बोगी नंबर इन कोच इंडिकेटर पर डिस्प्ले नहीं हो पाते.

blog comments powered by Disqus
भारत में और अधिक निवेश करेगी फेसबुक, एचपी और सिस्‍कोराजकोषीय घाटा को कम करना सरकार के लिए चुनौतिभुज के करीब वायुसेना विमान दुर्घटनाग्रस्त,पायलट सुरक्षितअरूण जेटली ने कहा,आर्थिक मंदी के कारण सार्वजनिक बैंकों का एनपीए बढानटवर सिंह का खुलासा, नरसिंह राव को पसंद नहीं करतीं थीं सोनिया गांधीताइवान में गैस धमाके में 24 लोगों की मौत, 271 घायलमुजफ्फरनगर: झूठी शान की खातिर भाई ने ली बहन की जानडीजल पर घाटा निचले स्‍तर पर,तीन माह में हो सकता है नियंत्रणमुक्‍तसैमसंग ने पेश किये तीन स्मार्टफोन, कीमत दस हजार से कमबाजार में एलजी का क्रोमबेस्ड कंम्पयूटर, जानिये क्या हैं फीचर्सओबीसी में क्रीमी लेयर को हटाने की लोस में मांगअसम:बम बनाते हुये मारे गये उल्फा के तीन उग्रवादीगाजा में 72 घंटे का संघर्षविराम जारी, लोगों ने ली चैन की सांसभारत अपने रुख पर कायम, WTO वार्ता विफलसहारनपुर मामला: कर्फ्यू में आठ घंटे की ढीलचेंबूर में भूस्‍खलन से एक बच्‍चे की मौत

विस में हंगामा, विधायक ज्योति को मार्शल की मदद से बाहर किया गया

बिहार विधान परिषद् में आज निर्दलीय विधायक ज्योति रश्मि ने काफी हंगामा किया. उनके हंगामे को देखते हुए उन्हें मार्शल की मदद से बाहर करवाना पड़ा. वहीं आज भाजपा सदस्यों के हंगामे के कारण सभापति अवधेश नारायण सिंह को परिषद की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित करनी पडी.
खुशखबरी : गया की धरती उगलेगी सोना!भाजपा से नभय कांग्रेस से अजीतमहिलाओं के लिए बढ़ेंगे अवसर : सीएमकृषि विभाग में 10 हजार से अधिक नियुक्तियांसूचना छिपाने पर तीन सांसदों को हाइकोर्ट का नोटिस

गुमला : माओवादियों ने अपने दो पूर्व साथियों को मार गिराया

गुमला : घाघरा के बरांग गांव में गुरुवार को दिन के 12 बजे भाकपा माओवादियों ने अपने दो पूर्व साथियों को मार गिराया. इनके नाम हैं : आदर पोखराटोली के रोहित उरांव (22) व राजमन उरांव (25). माओवादियों ने दावा किया है कि मारे गये दोनों युवक जेजेएमपी के सदस्य थे और एक मार्च को बरांग में एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या में शामिल थे. दोनों फिर हमला करने बरांग आये थे.
स्थानीयता नीति पर नहीं बनी सहमतिभाजपा ने काम आसान किया: बाबूलाल मरांडीस्थानीयता नीति को लेकर आज झारखंड बंदआइआइएम के अधिकारी पर लगा प्रताड़ना का आरोपतीन हार्डकोर नक्सली कमांडर गिरफ्तार

सारधा घोटाला: सुदीप्त सेन और सांसद कुणाल घोष के आवास की तलाशी

कोलकाता/नयी दिल्ली. सारधा समेत कुछ अन्य चिटफंड कंपनियों के करोड़ों रुपये के घोटाले की जांच को गति देते हुए गुरुवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में 30 ठिकानों पर छापेमारी की.
दूसरे दिन भी सीबीआइ की सारधा चिटफंड मामले में छापेमारीचितपुर कांड के खिलाफ कांग्रेस की रैलीसेट टॉप बॉक्स बदले बिना ऑपरेटर बदल सकेंगेमेट्रो में फिर धुआं से हड़कंपकेरी को तोहफा है बीमा विधेयक : माकपा

फेसबुक पर की सांप्रदायिक टिप्पणी, कार्रवाई की मांग के बाद बरेली में तनाव का माहौल

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक जहां आम लोगों से जुड़ने का जरिया बन चुका है, वहीं कई बार यह उपद्रवियों के मनसूबों को पूरा करने का भी साधन बन जाता है. फेसबुक पर धार्मिक भावनाएं भड़काने वाली टिप्पणी के बाद अब वहां तनाव फैल गया है.
सहारनपुर मामला: कर्फ्यू में आठ घंटे की ढीलसहारनपुर में कर्फ्यू में छह घंटे की ढील92 वर्षीय महिला के साथ बलात्कार, आरोपी को दस साल की सजामेरठ अग्निकांड: सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को दिया आदेश, मृतकों के परिजनों को दें पांच लाखझूठी शान के लिए भाई ने की बहन की हत्या