पटना
नाम बड़े और दर्शन छोटे
By Prabhat Khabar | Publish Date: Sep 11 2013 3:50AM | Updated Date: Sep 11 2013 3:50AM
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • Big font Small font

।। सुमित ।।

दर्जा प्लस का, मगर सुविधाएं कुछ भी नहीं

पटना : पटना जंकशन पूर्व मध्य रेल के उन छह गिने-चुने स्टेशनों में शामिल है, जिन्हें प्लस का दर्जा प्राप्त है. यहां से हर साल साढ़े तीन अरब से अधिक यात्री या अपने सफर की शुरुआत करते हैं या गुजरते हैं. इससे रेलवे को सालाना करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये की आय होती है. लेकिन, जंकशन पर यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं भी मयस्सर नहीं होतीं.

कभी आरक्षण टिकट काउंटर का प्रिंटर खराब हो जाता है, तो कभी अनारक्षित टिकट काउंटर पर पर्याप्त संख्या में कर्मी नहीं होते. वेटिंग हॉल के एसी पंखे अक्सर खराब रहते हैं. प्लेटफॉर्म संख्या छह से दस तक पर कोच इंडिकेटर नहीं है. यह स्थिति तब है, जब यात्रियों के आवागमन के मामले में पूर्व मध्य रेल के कुल 687 स्टेशनों में पटना जंकशन पहले स्थान पर है.

नहीं लगा इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले : यात्रियों की सुविधा की दृष्टि से उपयोगी इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम अब तक नहीं लग पाया है. पूमरे के ही धनबाद स्टेशन पर यह सुविधा काफी पहले उपलब्ध है. यह पारंपरिक प्रिंटेड आरक्षण चार्ट का नया स्वरूप है, जिसमें एलसीडी मॉनीटर के माध्यम से आरक्षण चार्ट का डिस्प्ले किया जा सकता है.

दूसरे जोन में 2007 से ही इसे लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई, मगर अब तक इसमें कामयाबी नहीं मिली. इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम लगने पर सिर्फ माउस के एक क्लिक से ही चार्ट प्लेटफॉर्मो पर लगे डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शित हो जायेगा. रात हो या दिन, इसकी विजिबिलिटी हमेशा क्लियर रहेगी. इसमें तो छेड़छाड़ किया जा सकेगा और ही फाड़ा जा सकेगा.

मांग के आधार पर इसे दूसरे नेटवर्क पर भी स्थानांतरित किया जा सकेगा. इस पर कंफर्म बर्थ साथ ही वेटिंग लिस्ट भी दिखेगी.

क्वाइन वेंडिंग ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट मशीन योजना भी अधर में : दानापुर मंडल के वरीय अधिकारियों ने जंकशन पर ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट के साथ क्वाइन वेंडिंग मशीन लगाने की योजना बनायी थी. लेकिन, इसे अब तक अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका है. इसके कारण हर दिन प्लेटफॉर्म टिकट काउंटर पर लंबी लाइन लगती है, जबकि खुदरा पैसे के लिए कई बार उनको काउंटरों पर ठगी का शिकार भी होना पड़ता है.

नहीं लगे एटीएम काउंटर : रेल प्रशासन ने जंकशन के करबिगहिया छोर पर कई एटीएम काउंटर लगाने की योजना बनायी थी, लेकिन उसे भी अब तक धरातल पर नहीं उतारा जा सका है. मुख्य पार्किग परिसर में पांच एटीएम हैं, जिनमें हमेशा लंबी लाइन लगी रहती है.

कोच इंडिकेटर नहीं : जंकशन के प्लेटफॉर्म संख्या छह से लेकर दस तक कोच इंडिकेटर नहीं है. इसके चलते यात्रियों को भीड़-भाड़ भरे माहौल में बोगी खोजने में परेशानी होती है. यात्रियों की शिकायत है कि जिन प्लेटफॉर्म पर पहले से ही कोच इंडिकेटर लगे हैं, वह भी सही से काम नहीं करते. जंकशन से शुरू होनेवाली गाड़ियों की बोगियां तो डिस्प्ले हो जाती हैं, मगर जंकशन होकर गुजरनेवाली ट्रेनों के बोगी नंबर इन कोच इंडिकेटर पर डिस्प्ले नहीं हो पाते.

blog comments powered by Disqus
पंजाब और हिमाचल प्रदेश में भूकंप के झटकेक्या भारत का संघीय ढांचा केंद्र-राज्य टकराव की ओर बढ़ रहा है?शिमला:400 फीट गहरी खाई में गिरी बस,15की मौत,17 घायलएक दिन की गिरावट के बाद बाजार में फिर से तेजी,सेंसेक्स 46 अंक मजबूतहक्कानी कमांडरों की सूचना देने वालों को 3 करोड डॉलर का इनाम देगा अमेरिकाफियो ने कहा, 2018-19 तक भारत का निर्यात 750 अरब डॉलर तक पहुंचेगाक्या गुजरात सीएम की बेटी पर भी होगा लागू जींस न पहनने का फरमानआतंकियों ने मांगी थी फोले की रिहाई के लिए फिरौतीमुजफ्फरनगर दंगा के 800 आरोपी अब भी फरार !जेटली ने कहा, बैंकों के स्‍तर में लगातार सुधार की जरुरतकोलेजियम व्यवस्था पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्टगोलाघाट:कर्फ्यू के उल्लंघन पर पुलिस ने किया हवाई फायर,तीन की मौतबॉलीवुड की 'मर्दानी' को है हॉलीवुड फिल्‍म से डरभारत के 54 फौजी बंद हैं पाकिस्तानी जेलों मेंक्या क्रिकेट को गर्त में ले जा रहा है आईपीएल?नेताओं के निशाने पर रहे हैं AIIMS के बर्खास्‍त CVO संजीव चतुर्वेदी

बिहार विस उपचुनावः कहीं कम तो कहीं जमकर हुई वोटिंग

उपचुनाव में मोहिउद्दीननगर विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं ने जमकर उत्साह दिखाया. सुबह किरण फूटने के साथ मौसम का मिजाज अच्छा रहा. आसमान में बादल छाये थे, बारिश नहीं हो रही थी. दिन चढ़ने के साथ हल्की धूप भी निकली. सुबह के समय मतदान की रफ्तार थोड़ी धीमी रही.
शहरों के साथ गांवों में पसर रही शुगर और बीपी की बीमारीनगर निगम ने डुबाया पटनाचलती ट्रेन से बीवी-बेटे को गंडक में फेंकापोषाहार में मिली छिपकली, आठ बच्चे बीमारअपराधियों को लॉक अप में पहुंचायेगा वाट्स एप

हेमंत सोरेन बने हूटिंग की राजनीति के तीसरे शिकार, चव्हाण ने किया बहिष्कार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में विपक्षी नेता को नकारने और उपहास उडाने की राजनीति आज भी जारी रही और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इसके तीसरे शिकार बने जबकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने मोदी के साथ मंच साझा करने से ही इंकार कर दिया.
भविष्य में फिर मोदी का कार्यक्रम होता है तो जाने पर विचार करेंगेः हेमंत सोरेनझारखंड में प्रधानमंत्री ने किया सबसे बड़े पावर ग्रिड का उद्घाटननहीं लड़ूंगा विस चुनाव : डॉ अजयईचा डैम टेंडर मामला उच्चस्तरीय जांच हो : अर्जुन मुंडाप्राथमिक शिक्षक नियुक्ति पर 10 सितंबर तक रोक

सारधा चिटफंड: देवब्रत सरकार व सुदीप्त सेन 26 अगस्त तक सीबीआइ हिरासत में

करोड़ों रुपये के सारधा चिटफंड घोटाले से जुड़े होने के आरोप में गिरफ्तार इस्ट बंगाल क्लब के पूर्व अधिकारी देवब्रत सरकार को गुरुवार को अलीपुर कोर्ट की सीबीआइ अदालत ने उसे 26 अगस्त तक सीबीआइ हिरासत में भेजने का निर्देश दे दिया.
सारधा चिटफंड घोटाले में सीबीआइ की कार्रवाई, देबब्रत सरकार गिरफ्तारडानकुनी में बनाया जायेगा फूड पार्कबेटी की मौत के लिए पत्नी को ठहराया दोषीपूर्व रेलवे, दक्षिण पूर्व रेलवे व मेट्रो रेलवे में मना सद्भावना दिवसतापस पॉल की हालत यथावत, अभी आईसीसीयू में