prabhatkhabar
पटना
नाम बड़े और दर्शन छोटे
By Prabhat Khabar | Publish Date: Sep 11 2013 3:50AM | Updated Date: Sep 11 2013 3:50AM
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • Big font Small font

।। सुमित ।।

दर्जा प्लस का, मगर सुविधाएं कुछ भी नहीं

पटना : पटना जंकशन पूर्व मध्य रेल के उन छह गिने-चुने स्टेशनों में शामिल है, जिन्हें प्लस का दर्जा प्राप्त है. यहां से हर साल साढ़े तीन अरब से अधिक यात्री या अपने सफर की शुरुआत करते हैं या गुजरते हैं. इससे रेलवे को सालाना करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये की आय होती है. लेकिन, जंकशन पर यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं भी मयस्सर नहीं होतीं.

कभी आरक्षण टिकट काउंटर का प्रिंटर खराब हो जाता है, तो कभी अनारक्षित टिकट काउंटर पर पर्याप्त संख्या में कर्मी नहीं होते. वेटिंग हॉल के एसी पंखे अक्सर खराब रहते हैं. प्लेटफॉर्म संख्या छह से दस तक पर कोच इंडिकेटर नहीं है. यह स्थिति तब है, जब यात्रियों के आवागमन के मामले में पूर्व मध्य रेल के कुल 687 स्टेशनों में पटना जंकशन पहले स्थान पर है.

नहीं लगा इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले : यात्रियों की सुविधा की दृष्टि से उपयोगी इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम अब तक नहीं लग पाया है. पूमरे के ही धनबाद स्टेशन पर यह सुविधा काफी पहले उपलब्ध है. यह पारंपरिक प्रिंटेड आरक्षण चार्ट का नया स्वरूप है, जिसमें एलसीडी मॉनीटर के माध्यम से आरक्षण चार्ट का डिस्प्ले किया जा सकता है.

दूसरे जोन में 2007 से ही इसे लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई, मगर अब तक इसमें कामयाबी नहीं मिली. इलेक्ट्रॉनिक रिजर्वेशन चार्ट डिस्प्ले सिस्टम लगने पर सिर्फ माउस के एक क्लिक से ही चार्ट प्लेटफॉर्मो पर लगे डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शित हो जायेगा. रात हो या दिन, इसकी विजिबिलिटी हमेशा क्लियर रहेगी. इसमें तो छेड़छाड़ किया जा सकेगा और ही फाड़ा जा सकेगा.

मांग के आधार पर इसे दूसरे नेटवर्क पर भी स्थानांतरित किया जा सकेगा. इस पर कंफर्म बर्थ साथ ही वेटिंग लिस्ट भी दिखेगी.

क्वाइन वेंडिंग ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट मशीन योजना भी अधर में : दानापुर मंडल के वरीय अधिकारियों ने जंकशन पर ऑटोमेटिक प्लेटफॉर्म टिकट के साथ क्वाइन वेंडिंग मशीन लगाने की योजना बनायी थी. लेकिन, इसे अब तक अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका है. इसके कारण हर दिन प्लेटफॉर्म टिकट काउंटर पर लंबी लाइन लगती है, जबकि खुदरा पैसे के लिए कई बार उनको काउंटरों पर ठगी का शिकार भी होना पड़ता है.

नहीं लगे एटीएम काउंटर : रेल प्रशासन ने जंकशन के करबिगहिया छोर पर कई एटीएम काउंटर लगाने की योजना बनायी थी, लेकिन उसे भी अब तक धरातल पर नहीं उतारा जा सका है. मुख्य पार्किग परिसर में पांच एटीएम हैं, जिनमें हमेशा लंबी लाइन लगी रहती है.

कोच इंडिकेटर नहीं : जंकशन के प्लेटफॉर्म संख्या छह से लेकर दस तक कोच इंडिकेटर नहीं है. इसके चलते यात्रियों को भीड़-भाड़ भरे माहौल में बोगी खोजने में परेशानी होती है. यात्रियों की शिकायत है कि जिन प्लेटफॉर्म पर पहले से ही कोच इंडिकेटर लगे हैं, वह भी सही से काम नहीं करते. जंकशन से शुरू होनेवाली गाड़ियों की बोगियां तो डिस्प्ले हो जाती हैं, मगर जंकशन होकर गुजरनेवाली ट्रेनों के बोगी नंबर इन कोच इंडिकेटर पर डिस्प्ले नहीं हो पाते.

blog comments powered by Disqus
100 दिन पर बोले मोदी,जो कदम उठाये उसके परिणाम दिख रहे हैंरायबरेली में सोनिया ने मोदी सरकार पर साधा निशानाइमरान खान और कादरी को आतंकवाद रोधी कानून के तहत मामला दर्ज, हो सकती है गिरफ्तारीसेक्सेक्स रिकार्ड स्तर पर,निफ्टी 8,000 अंक के पारप्रधानमंत्री ने जापानी उद्योगपतियों को किया आमंत्रित,तेजी से मंजूरी का वादाहवाई यात्रा के लिए ऑफरों की धूम, स्पाइसजेट की टिकट अब 499 रुपये मेंममता-विमल की मुलाकात की अटकलें तेजजूनियर बच्चन की टीम ने जीता प्रो कबड्डी का खिताबअमित शाह के इशारे पर काम कर रहे हैं नजीब जंग:मनीष सिसोदियापाक पर भड़के गृह मंत्री,सीजफायर के जवाब में दिया फायरिंग का निर्देशआज से दो दिवसीय जम्मू दौरे पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जीडीए 100 से बढ़ कर 107 प्रतिशत होगाशाह टटोलेंगे केरल की राजनीतिक नब्जक्या होगा नवाज शरीफ सरकार काबोमन ईरानी भी हैं अंडरवर्ल्ड के निशाने पर!हवाई यात्रा के लिए ऑफरों की धूम, स्पाइसजेट की टिकट अब 499 रुपये में

झारखंड के हालात: अपराधियों ने पिता से दुश्मनी का बदला नाबालिग बेटी से लिया गैंगरेप के बाद कर दी बच्ची की हत्या

गुमला: सदर थाना क्षेत्र के चरकाटांगर में एक किसान की 12 वर्षीया बेटी की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गयी. शनिवार को चार- पांच अपराधियों ने बच्ची को अगवा किया. सामूहिक दुष्कर्म के बाद रविवार की रात उसकी हत्या कर दी.
हर शहर में शादी घर बनवायेगी सरकारआदिवासियों को साजिश के तहत नक्सली कहा जाता है, पता नहीं शायद हम भी किसी दिन बंदूक ढोते नजर आयेंगयी थी लाखों के गहने लेकर, लौटी खाली हाथ10 हजार कार्यकर्ताओं से रू-ब-रू होंगे शाहतारा शाहदेव प्रकरण:रकीबुल के मकान से 30 फाइलें और 36 सीम कार्ड बरामद

ममता तक पहुंची जांच की आंच

कोलकाता: सारधा चिटफंड घोटाले की जांच का दायरा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तक पहुंचता दिख रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, सारधा को रेलवे से लाभ दिलाने के लिए कुछ लोगों की विशेष भूमिका रही है और तब ममता बनर्जी रेल मंत्री थीं.
सारधा घोटाला: ममता के रेल मंत्री रहते रेलवे व सारधा के बीच हुआ था समझौताआज खत्म हो रहा टैक्सी संगठनों का अल्टीमेटम, तीन को टैक्सी हड़तालकर्मियों के अटेंडेंस की अब मिलेगी ऑनलाइन जानकारीचार दिवसीय उत्तर बंगाल दौरे पर आयी सीएम ममताममता-विमल की मुलाकात की अटकलें तेज

एक बार फिर बनीं मायावती बसपा की निर्विरोध अध्यक्ष

बसपा द्वारा यहां आयोजित केंद्रीय कार्यकारिणी समिति तथा राज्य स्तरीय वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को एक बार फिर सर्वसम्मति से पार्टी का अध्यक्ष चुन लिया गया
अखिलेश को संकट में डाल रहे दंगेसरकार का इकबाल बुलंद करने में जुटे अखिलेश यादवउत्तर प्रदेश: बिन बिजली बेहाल हुई जिंदगीयूपी:दहेज के लिए महिला को जिंदा जलाया20 साल पुराना 'चर्च' बन गया मंदिर!