prabhatkhabar
देश
बाडमेर में त्रिकोणीय संघर्ष की स्थिति, चुनावी मुकाबला हुआ रोचक
By Prabhat Khabar | Publish Date: Apr 4 2014 10:56AM | Updated Date: Apr 4 2014 10:56AM
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • |
  • Big font Small font
clip

बाडमेर : ससंदीय चुनावों में सरहदी बाडमेर लोकसभा सीट पर यह संभवत: पहला मौका होगा जब इस सीट पर चुनावी दंगल भाजपा बनाम कांग्रेस होने के बजाय भाजपा बनाम भाजपा और कांग्रेस बनाम कांग्रेस हो गया है. ऐसे समय में जब चुनावी समर अपने चरम पर है, दोनों प्रमुख दल एक-दूसरे को चुनौती देने के बजाय, अपने परंपरागत वोट बैंक को बचाने की जुगत में लगे हुए हैं.

पाला बदल कर कांग्रेसी से भाजपाई बने सोनाराम चौधरी और भाजपा से निष्कासित नेता जसवंत सिंह ने बाडमेर लोकसभा सीट पर चुनावी मुकाबले को रोचक बना दिया है. बाडमेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस ने मौजूदा सांसद हरीश चौधरी को एक बार फिर से चुनाव मैदान में उतारा है. वहीं, भाजपा ने कांग्रेस से टिकट न मिलने के बाद पार्टी छोडकर कुछ ही दिन पहले भाजपा में शामिल हुए सोनाराम चौधरी को अपना उम्मीदवार बनाया है.

भाजपा उम्मीदवार चौधरी इस सीट से कांग्रेस के टिकट पर चार बार लोकसभा चुनाव लड़कर तीन बार संसद में बाडमेर का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. दो बार विधानसभा चुनाव लड़कर एक बार राज्य विधानसभा में बाडमेर की बायतु विधानसभा सीट का भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं.

हालिया विधानसभा चुनावों में भाजपा के कैलाश चौधरी ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लडे सोनाराम को करीब 15 हजार मतों से हराया था. शिकस्त के बाद सोनाराम चौधरी ने कांग्रेस से लोकसभा का टिकट मांगा लेकिन पार्टी की ओर से हरीश चौधरी को मौका देने पर सोनाराम दलबदल कर कांग्रेसी से भाजपाई बन गए. बाडमेर संसदीय सीट पर कुछ ऐसी ही स्थिति वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह की भी है. भाजपा से टिकट नहीं मिलने के कारण इसे स्वामिभान की लडाई बताकर सिंह निर्दलीय ही चुनाव मैदान में उतर पडे हैं. बगावत के बाद उन्हें छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

हालांकि, जसवंत सिंह इस सीट से पहली बार चुनाव लड रहे हैं, लेकिन उनके पुत्र और वर्तमान में बाडमेर की शिव विधानसभा सीट के मौजूदा विधायक मानवेंद्र सिंह इस सीट से तीन बार 1998, 2004 और 2009 में भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड चुके हैं.

वर्ष 1998 में मानवेन्द्र सिंह ने कांग्रेस के सोनाराम चौधरी से शिकस्त खाई और 2004 के चुनावों में सोनाराम चौधरी को करारी शिकस्त दी. मानवेन्द्र 2009 में कांग्रेस के हरीश चौधरी से चुनाव हार गए थे. बाडमेर लोकसभा सीट पर करीब 17 लाख मतदाताओं में से 3.5 लाख जाट, 2.5 लाख राजपूत, 4 लाख एससी-एसटी, 3 लाख अल्पसंख्‍यक और शेष अन्य जातियों के मतदाता हैं. विश्लेषकों का मानना है कि सोनाराम चौधरी के कारण कांग्रेसी वोट बैंक में बिखराव आ सकता है. चौधरी भी 50 फीसदी कांग्रेसी वोट मिलने का दावा कर रहे हैं.

कांग्रेस की तरह कुछ ऐसी ही स्थिति भाजपा की है, जिसे पार्टी के पंरपरागत वोट बैंक के जसवंत सिंह के पक्ष में लामबंद होने का डर सता रहा है. इसमें राजपूत और ओबीसी चारण, पुरोहित, प्रजापत जैसी जातियां शामिल हैं. सिर्फ यही नहीं भाजपा कार्यकर्ताओं का एक बडा वर्ग भी जसवंत सिंह के पक्ष में खुलकर खड़ा है. राजनीतिक गलियारों में चल रहीं चर्चा के अनुसार कर्नल सोनाराम चौधरी को भाजपा में लाने और उन्‍हें टिकट दिलवाने में वसुंधरा राजे की भूमिका रही है. राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार सोनाराम अगर इस सीट पर चुनाव नहीं जीत पाते हैं तो इससे न सिर्फ राजस्थान में भाजपा के मिशन-25 को झटका लगेगा, वरन पार्टी में वसुंधरा के निर्णय पर भी सवाल उठेंगे.

blog comments powered by Disqus
ओलंपिक पदक विजेता राष्ट्रमंडल खेलों से बाहरओलंपिक पदक विजेता राष्ट्रमंडल खेलों से बाहरशिवसेना सांसद ने रोजेदार के मुंह में जबरन ठूंसी रोटी, सदन में हंगामाबेंगलुरु बलात्‍कार मामले में स्कूल का चेयरमैन गिरफ्तारझारखंड:पुलिस-माओवादी मुठभेड़,सबजोनल कमांडर ढेर'अबराम' के साथ ड्राइव पर गए शाहरुखलैंगिक जागरुकता का पाठ स्कूलों में होगा शामिल:स्मृतिकरारी हार और बग़ावती तेवरों से हलकान कांग्रेसइसराइल के लिए विमान सेवाएं स्थगित90 साल के हैं भारत के सबसे बड़े सेक्स गुरू"लड़की मारकर खाने की फैंटसी"दक्षिण की एक्‍ट्रेस रंभा के खिलाफ केस दर्जअहमदाबाद:नाबालिग ड्राइवर ने सड़क में सो रहे लोगों पर चढ़ाई कार,तीन की मौतरुपये में उछाल, हुआ 12 पैसै मजबूतशादी के लिए तैयार हैं बिपाशा ?प्रतिदिन तीन घंटे स्‍मार्टफोन पर समय बिताते हैं भारतीय

झारखंड:पुलिस-माओवादी मुठभेड़,सबजोनल कमांडर ढेर

पुलिस ने आज एक सबजोनल कमांडर को मार गिराया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार खूंटी के लांबा गांव में आज सुबह चार बजे रांची और खूंटी पुलिस के द्वारा चलाये गये संयुक्त पुलिस अभियान में माओवादी सबजोनल कमांडर की मौत हो गई है. फायरिंग दोनों ओर से हुई.
पेड़ से टंगा मिला कांवरिया का शवनक्सलियों ने आवासीय स्कूलों से मांगे 10-10 बच्चेझामुमो चुनाव लड़ने के लिए तैयार : हेमंतउग्रवादियों ने कोयला लदा हाइवा फूंक दियाबच्‍चा मरा, उग्र हाथियों ने उजाड़ दिया पूरा गांव

पीएम व सीएम की होगी बैठक !

कोलकाता: अपने सिंगापुर दौरे से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तीन अगस्त से तीन दिवसीय दौरे पर दिल्ली जा रही हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस तीन दिवसीय दौरे के दौरान ही वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी मुलाकात कर सकती हैं.
इंसेफ्लाइटिस ने सिलीगुड़ी में भी पसारा पांव, निगम उदासीन वामो ने कमिश्नर को घेरासिलीगुड़ी में अब दौड़ेंगी मीटरवाली टैक्सियांहॉस्टल से कूद कर मेडिकल क छात्र ने दी जानबिहार से दबोचे गये तीन शार्प शूटरभारत-नेपाल के बीच समन्वय बैठक, सुरक्षा मजबूत करने पर जोर

राज्यपाल के बदलने के साथ ही बदला राजभवन

उत्तर प्रदेश के 28वें राज्यपाल के रूप में राम नाईक ने शपथ लेने के साथ ही राजभवन के दरवाजे आम जनता के लिए खोलने की घोषणा हो गई. खुद राम नाईक ने राजभवन के दरवाजे आम जनता के लिए खोलने का ऐलान किया और कहा कि वह आम जनता और अन्य लोगों से मिलने का सिस्टम बनाएंगे.
शौच के लिए गयी नाबालिग से दुष्‍कर्मयूपी के खिलाफ हो रही है साजिश:मुलायमदलित युवती से गैंग रेप, युवक के साथ यौनाचारफिर विवाद में यूपी के कार्यवाहक राज्यपालमोहनलालगंज गैंग रेप:पुलिस ने कहा,महिला से नहीं हुआ रेप