Just In
तुर्की : फुटबॉल स्टेडियम के पास हुआ बम धमाका, 29 की मौत, 166 घायल बिहार के नालंदा में बस पलटने से 6 की मौत, 25 घायल एआईडीएमके के वरिष्ठ नेताओं ने शशिकला से पार्टी की कमान संभालने का आग्रह किया एआईडीएमके के वरिष्ठ नेताओं ने शशिकला से पार्टी की कमान संभालने का आग्रह किया प्रधानमंत्री जानते हैं कि नोटबंदी पटरी से उतर चुकी है, भाषण देने के अलावा उनके .. प्रधानमंत्री अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचे, डीसा में डेयरी प्लांट का उद्घाटन करेंगे #INDvsENG : मुरली विजय की शानदार बल्लेबाजी, शतक जड़ा IND अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला : पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी गिरफ्तार मुंबई : दादर इलाके से 85 लाख के नए नोट जब्त पंजाब: कोहरे के कारण दुर्घटना, 13 की मौत

west bengal

  • Mar 25 2014 8:40AM

महानगर में अवैध निर्माण: अब मकान के सामने होने लगे हैं अवैध निर्माण

 कोलकाता: महानगर के हृदय स्थल के रूप में जाना जाने वाला बड़ाबाजार एक बार फिर अवैध निर्माण को लेकर सुर्खियों में है. आये दिन यहां अवैध निर्माण पर निगम का हथौड़ा चलते भी देखा जाता है.

लेकिन बड़ाबाजार में होने वाले अवैध निर्माण आम तौर पर निगम के अधिकारियों, थाना- पुलिस व विशेषकर स्थानीय नेताओं के हाथ को गरम कर किया जाता है. वरना अवैध निर्माण करना संभव नहीं है. बड़ाबाजार के वार्ड 42 के तीन नंबर अमरतल्ला लेन के एक मकान के सामने परिसर में खाली स्थान में अवैध निर्माण का आरोप लगाया गया है.

मकान परिसर में अवैध निर्माण की शिकायत मिलने के बाद बड़ाबाजार थाना की ओर से दो बार हस्तक्षेप के बाद अवैध निर्माण फिलहाल बंद हैं. लेकिन कुछ दिन पहले मकान के सामने बंद किये गये अवैध निर्माण स्थल को अब बांस व तिरपाल लगा कर घेर दिया गया है. डीसी सेंट्रल व स्थानीय थाने में इस अवैध निर्माण के खिलाफ शिकायत करने वाले अशफाक खान ने आरोप लगाया कि यह संपत्ति हाजिअरी कासिम वक्फ बोर्ड का है. इसके अंतर्गत इस संपत्ति को कोई बेच नहीं सकता. बेचने के लिए वक्फ बोर्ड से अनुमति व सहमति लेनी पड़ेगी. साथ ही बिना अनुमति के किसी भी प्रकार का नये सिरे से निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता. यहां तक की मरम्मत के लिए भी अनुमति लेनी पड़ेगी.


वर्तमान समय में इस मकान में कई लोगों के परिवार के साथ कई दुकानें व कार्यालय भी हैं. अशफाक ने आरोप लगाया कि मकान में हमेशा कुछ न कुछ अवैध निर्माण का कार्य होता रहता है. लेकिन इस बार तो मकान के प्रवेश द्वार के ठीक निकट खाली पड़े कॉमन प्लेस में अवैध निर्माण किया जा रहा है. पहले इस स्थान पर पार्किंग किया जाता था. लेकिन इन दिनों बांस व तिरपाल से उस स्थान को घेर दिया गया है. कुछ माह पूर्व स्थानीय एक नेता के कुछ करीबी लोगों ने मकान के केयर टेकर को लालच देकर यह जगह अपने नाम करा लिया और उसे लालच दिया कि इस खाली स्थान पर दुकान बना कर व उसे बेच कर जो लाभ होगा, उसमे केयर टेकर के साथ इन लोगों की हिस्सेदारी होगी. इसी के बाद यहां अवैध निर्माण शुरू किया गया. एक बार फिर नेता और उनके लोग चुनाव के दौरान अवैध निर्माण करने की ताक में हैं. इससे पहले भी मकान के कई खाली स्थान पर अवैध रूप से दुकान बना दिये गये हैं. मकान में रहनेवाले लोगों के साथ स्थानीय लोग इसके विरोध में हैं. अशफाक का आरोप है कि अमरतल्ला लेन में अगर कभी कोई अग्निकांड हुआ तो सड़क का हाल यह हो गया है कि फायर ब्रिगेड का कोई वाहन भी प्रवेश नहीं कर सकता. यहां तक की एंबुलेंस को आने में काफी असुविधा होगी.

तृणमूल के नेता लेते हैं अवैध निर्माण का ठेका : पार्षद
स्थानीय पार्षद सुनीता झंवर से इस बाबत पूछे जाने पर कहा कि हां इससे पहले भी इस मकान में अवैध निर्माण की शिकायत मिली है. मकान के सामने कॉमन प्लेस में तिरपाल व बांस लगा हुआ है. लेकिन आज तक यहां किसी भी प्रकार के निर्माण की अनुमति नहीं ली गयी है. अगर, फिर से अवैध निर्माण किया जाता है तो निगम के कानून के अंतर्गत उचित कार्रवाई की जायेगी. पार्षद ने कहा कि स्थानीय कुछ तृणमूल के नेता इस मकान में अवैध निर्माण का ठेका ले रहे हैं. एक साल पहले तृणमूल के नेताओं द्वारा इस मकान में अवैध निर्माण की शिकायत आयी थी. तृणमूल के लोग इस वक्फ बोर्ड के मकान में अवैध रूप से दुकान बना कर बेच रहे हैं. इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.
 
Advertisement

Comments